उत्तराखंड पुलिस का जवान...हादसे में खोया था पैर, अब मेडल जीतकर बढ़ाया देश का मान

ये कहानी वास्तव में प्रेरणादायक है। उत्तराखंड पुलिस में कुछ ऐसे भी जवान हैं, जिन्हें देखकर गर्व होता है।

story of uttarakhand police jawan sharat chandra joshi - उत्तराखंड, उत्तराखंड पुलिस, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, उत्तराखंड न्यूज, उत्तराखंड पुलिस न्यूज,Uttarakhand, Uttarakhand Police, Latest Uttarakhand News, Uttarakhand News, Uttarakhand Police News, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

खुशबू बनकर गुलों से उड़ा करते हैं, धुआं बनकर पर्वतों से उड़ा करते हैं, ये कैंचियां खाक हमें उड़ने से रोकेंगी....हम परों से नहीं हौसलों से उड़ा करते हैं। ये लाइनें उत्तराखंड पुलिस के आरक्षी शरद चंद्र जोशी पर एकदम फिट बैठती हैं। शरद चंद्र जोशी ने सड़क हादसे में बायां पैर खोने के बावजूद यूनाइटेड अरब अमीरात में आयोजित वर्ल्ड स्पोर्ट्स में उत्तराखंड और देश का नाम रोशन किया है। शरद जोशी ने बैडमिंटन के सिंगल और डबल्स में कांस्य पदक जीता है। उनकी इस उपलब्धि से उत्तराखंड का मान बढ़ा है, उन्हें बधाईयां मिल रही हैं, पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी ने भी उनकी इस उपलब्धि पर खुशी जताई। उन्होंने पीठ थपथपा कर शरदचंद्र का हौसला बढ़ाया। यूनाइटेड अरब अमीरात में आयोजित बैडमिंटन कॉम्पिटीशन में उत्तराखंड के कांस्टेबल शरद जोशी ने अपने शानदार खेल का प्रदर्शन किया।

यह भी पढें - शाबाश नवल...पहाड़ के सरकारी स्कूल का छात्र बना अंतरिक्ष वैज्ञानिक
UAE में International Wheelchair and Amputee Sports World Games 2019 हुए और शरत चन्द्र जोशी ने अपनी मेहनत और कभी हार ना मानने वाले जज्बे के दम पर दो कांस्य पदक जीतकर लौटने में सफल रहे। प्रतियोगिता में पदक जीतकर लौटने पर कांस्टेबल शरद जोशी का पुलिस मुख्यालय में जोरदार स्वागत किया गया। पुलिस अफसरों ने उन्हें इस उपलब्धि पर बधाई दी। साथ ही नियमित अभ्यास कर स्वर्ण पदक प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया। आपको बता दें कि शरद चंद्र जोशी साल 2005 से उत्तराखंड पुलिस का हिस्सा हैं। साल 2015 में हुए भीषण सड़क हादसे में जोशी ने अपना बायां पैर गंवा दिया था, लेकिन उन्होंने विकलांगता को अपने सपनों पर हावी नहीं होने दिया। कृत्रिम पैर के बल पर वो लगातार प्रैक्टिस करते रहे। शरतचंद्र जोशी वर्तमान में 31 वीं वाहिनी पीएसी में सेवारत हैं। ऐसी प्रतिभाओं को हमारा सलाम है।


Uttarakhand News: story of uttarakhand police jawan sharat chandra joshi

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें