Video: भारत के पहले ड्रोन फेस्टिवल का शुभारंभ, देहरादून बनेगा देश का पहला ड्रोन प्रशिक्षण केन्द्र

देहरादून में आयोजित इंडिया ड्रोन फेस्टिवल में मुख्यमंत्री ने ड्रोन तकनीक के फायदे बताए, साथ ही तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने की बात कही।

dron application training center in India drone festival - Drone Application Lab, Drone Festival, India Drone Festival, इंडिया ड्रोन फेस्टिवल, ड्रोन फेस्टिवल, देहरादून, Drone Festival Dehradun, First Dron App Lab, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देहरादून में इंडिया ड्रोन फेस्टिवल-2019 का शुभारंभ हुआ। फेस्टिवल का शुभारंभ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि नई तकनीकें हर क्षेत्र में मददगार साबित हो रही हैं। वर्तमान में ड्रोन का बहुआयामी उपयोग हो रहा है। नदियों, रेलवे लाइनों, क्राउड कंट्रोल से लेकर आपदा के वक्त महत्वपूर्ण गतिविधियों के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड देश का पहला ऐसा राज्य है जहां ड्रोन एप्लीकेशन प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की गई है। इसी की साथ उत्तराखंड ड्रोन फेस्टिवल का आयोजन करने वाला पहला राज्य बन गया है। उन्होंने ड्रोन एप्लीकेशन प्रशिक्षण केंद्र और अनुसंधान प्रयोगशाला की स्थापना के लिए एनटीआरओ के पूर्व अध्यक्ष आलोक जोशी के प्रयासों की भी सराहना की।

यह भी पढें - पाकिस्तान ने जारी किए अपने तबाही के फोटोग्राफ, खुद दिया भारत की कार्रवाई का सबूत
फेस्टिवल के शुभारंभ के मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी कार्यक्रम की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि उसमें युवाओं की कितनी भागीदारी है। युवाओं पर देश के भविष्य की जिम्मेदारी है। इस तरह के कार्यक्रमों में हिस्सा लेकर वो देश-प्रदेश की तरक्की में अहम भूमिका निभाएंगे। ड्रोन प्रशिक्षण जैसी तकनीक से युवाओं को बहुत फायदा होगा, साथ ही रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। आने वाले वक्त में ड्रोन तकनीक कृषि, आपदा, ट्रैफिक कंट्रोल और सर्वे में बेहद मददगार साबित होगी। इंडिया ड्रोन फेस्टिवल-2019 का आयोजन सूचना प्रोद्योगिकी भवन आईटी पार्क में किया जा रहा है। ड्रोन फेस्टिवल में 21 राज्यों के लोग हिस्सा ले रहे हैं।

यह भी पढें - पाकिस्तान के खिलाफ एयर स्ट्राइक के बाद वायरल हो रहा सेना के जवानों का ये वीडियो.. देखिये
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि 06 मार्च को परेड ग्राउण्ड में ‘‘युवा उत्तराखण्ड- रोजगार एवं उद्यमिता की ओर’’ कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा।युवाओं को रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ने के उद्देश्य से यह कार्यक्रम किया जा रहा है। इसमें प्रदेश के हजारों छात्र प्रतिभाग करेंगे। तकनीक के माध्यम से डिग्री काॅलेज के छात्र-छात्राओं से भी जुड़ेंगे। विधायक गणेश जोशी ने कहा कि कि ड्रोन विभिन्न क्षेत्रों में देश व प्रदेश के लिए वरदान के रूप में साबित हुआ है। यह अत्याधुनिक तकनीक प्रदेश में आने वाले समय में आपदा, कृषि, ट्रेफिक कंट्रोल व सर्वें के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। ये एक्सक्लूसिव विडियो भी देखिये..

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: dron application training center in India drone festival

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें