पुलवामा का बदला..डोभाल, रावत और धस्माना की प्लानिंग...फिर हुई सर्जिकल स्ट्राइक

एक बार फिर से रात के करीब 3 बजे...ये अजित डोभाल का फेवरेट टाइम है। पाकिस्तान को एक बार फिर से करारा जवाब मिल गया।

Ajit dobhal planning bipin rawat action - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, पुलवामा अटैक, सर्जिकल स्ट्राइक, अजित डोभाल, बिपिन रावत, Uttarakhand, Uttarakhand News, Pulwama Attack, Surgical Strike, Ajit Doval, Bipin Rawat, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

पिछली वाली सर्जिकल स्ट्राइक याद हैं ? पिछली बार फिर वक्त ये ही हो रहा था। सुबह जब हर कोई उठा तो पता चला कि उरी का बदला सर्जिकल स्ट्राइक से ले लिया। इस बार तीन गुना ज्यादा आतंकियों को उनकी 72 हूरों के पास पहुंचाया है। 300 से ज्यादा आतंकियों को ढेर कर दिया...वाह वायुसेना, वाह डोभाल, वाह रावत। जी हां काफी वक्त पहले से ही इसकी प्लानिंग चल रही थी। सेना को कश्नीर में डिप्लॉय किया गया तो सिर्फ इसलिए कि बेवकूफ आतंकियों का ध्यान दूसरी तरफ भटके। इधर NSA अजित डोभाल और आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत अपनी अपनी प्लानिंग में जुए गए। उधर रॉ चीफ अनिल धस्माना से अपनी हर प्लानिंग तैयार करने के लिए कह दिया गया। अब सांसे अटकी थी...एयरफोर्स की खास टीम को तैयार गया। वक्त तैयार किया और तय हुआ कि ढाई से लेकर साढ़े तीम के बीच बॉर्डर के उस पार सभी का खात्मा करके आना है।

यह भी पढें - Video: भारतीय वायुसेना ने लिया पुलवामा का बदला, आतंकियों के गढ़ में मचा कोहराम..देखिए वीडियो
आखिरकार इंडियन एयरफोर्स ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए जवानों की शहादत का बदला ले लिया है। एयर फोर्स के फाइटर जेट्स ने लाइन ऑफ कंट्रोल पार कर जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर हमला कर 1000 किलो बम बरसाए। जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों में हुई तबाही की खबरों ने पाकिस्तान को हिलाकर रख दिया है। जानकारी के अनुसार 26 फरवरी की रात करीब साढ़े तीन बजे इंडियन एयरफोर्स के मिराज 2000 फाइटर जेट्स ने एलओसी पर स्थित आतंकी ठिकानों पर खूब बमबारी की और इन्हें पूरी तरह तबाह कर दिया। इस हमले में 300 आतंकवादियों के मारे जाने की खबर है।


ऑपरेशन को अंजाम देने के बाद जेट्स पूरी तरह से सुरक्षित अपनी सीमा में वापस आ गए हैं।

यह भी पढें - Video: भारतीय वायुसेना ने लिया पुलवामा का बदला, आतंकियों के गढ़ में मचा कोहराम..देखिए वीडियो
पाकिस्तान ने भी इस बात को स्वीकारा है कि भारतीय वायुसेना का विमान उनकी सीमा में दाखिल हुआ। पाक ने इंडियन एयर फोर्स पर नियंत्रण रेखा का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। आईएएफ सूत्रों के अनुसार 12 मिराज पीओके के बालाकोट तक दाखिल हुए, और जैश के ठिकानों पर हमला किया। इस दौरान करीब 1000 किलोग्राम बम एलओसी के पार आतंकी कैंप्सम पर गिराए गए हैं। अगर ये बात सच है तो साल 1999 में हुई कारगिल वॉर के बाद ये पहला मौका होगा जब इंडियन एयर फोर्स के जेट्स ने एलओसी पार की है। बहरहाल सरकार की तरफ से इसकी आधिकारिक पुष्टी होना अभी बाकी है। आपको बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू से श्रीनगर जा रहे सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ली थी।


Uttarakhand News: Ajit dobhal planning bipin rawat action

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें