उत्तराखंड में भीम आर्मी के ‘रावण’ का शर्मनाक बयान..‘पुलवामा हमला झूठा था’

उत्तराखंड में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चंद्रशेखर ‘रावण’ ने पुलवामा हमले को झूठा बताया। साथ ही कहा कि ‘पीएम मोदी इसका राजनीतिक फायदा उठा रहे हैं।’

chandrashekhar rawan on pulwama attack - पुलवामा हमला, pulwama attack, उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, चंद्रशेखर रावण, रूड़की, रूड़की न्यूज,Uttarakhand, Uttarakhand News, Chandrasekhar Ravan, Roorkee, Roorkee News, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले को भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर ‘रावण’ ने झूठा हमला करार दिया है। उन्होंने कहा की हमले को लेकर खुफिया एजेंसियों ने पहले से चेतावनी दी थी, इसके बावजूद 300 किलो विस्फोटक सामग्री सैनिकों के काफिले तक पहुंच गई, ये सबसे बड़ा सबूत है कि सैनिकों पर कराया गया हमला झूठा था। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर सैनिकों की शहादत पर राजनीति करने का भी आरोप लगाया। उत्तराखंड के रुड़की में बहुजन महासम्मेलन को आयोजित करते हुए उन्होंने कहा कि एक मुसलमान की गलती की सजा कश्मीरियों और सभी मुसलमानों को देना गलत है। समाज के अधिकारों की रक्षा उनकी प्राथमिकता है और इसके लिए वो जान देने से भी पीछे नहीं हटेंगे। पुलवामा हमले को उन्होंने बीजेपी सरकार की विफलता बताया।

चंद्रशेखर रावण ने बीजेपी सरकार पर आरोप लगाया कि सैनिकों पर झूठा हमला इसलिए कराया गया है, ताकि इस घटना का राजनीतिक फायदा उठाया जा सके। चंद्रशेखर ने कहा कि अमेरिकी इंटेलीजेंस ने सरकार को एक महीने पहले ही हमले को लेकर चेता दिया था, फिर भी 300 किलो से ज्यादा आरडीएक्स सैनिकों के ट्रक तक पहुंच गया...ऐसा कैसे हो गया ये बड़ा सवाल है। नेहरू स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने प्रदेश सरकार को भी जमकर घेरा। उन्होंने कहा कि झबरेड़ा में हुए शराब कांड के लिए सरकार के साथ-साथ प्रशासन भी जिम्मेदार है। प्रशासन ही पैसे लेकर अवैध शराब की भट्टियां चलाता है और बाद में कार्रवाई की औपचारिकता निभा दी जाती है। चंद्रशेखर ने सीएम त्रिवेंद्र रावत के शराब पीड़ितों के घर न पहुंचने को लेकर भी कड़ी आलोचना की। उन्होंने आदिवासियों के अधिकारों का हनन ना होने देने की भी बात कही।


Uttarakhand News: chandrashekhar rawan on pulwama attack

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें