DM मंगेश घिल्डियाल का असरदार काम,केदारनाथ धाम में खुले रोजगार के द्वार

ये बात सच है कि पिछली बार स्वरोजगार के जरिए लोगों ने केदारनाथ धाम से अच्छी खासी कमाई की। इस बार और भी बड़ी तैयारी हो गई है।

GOOD NEWS FOR KEDARGHATI - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, केदारनाथ धाम, मंगेश घिल्डियाल, रुद्रप्रयाग, रुद्रप्रयाग न्यूज, डीएम मंगेश घिल्डियाल, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Kedarn, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

केदारघाटी के लोगों के लिए भगवान शिव का धाम केदारनाथ किसी वरदान से कम नहीं है। केदारनाथ यात्रा के जरिए यहां रोजगार के नए मौके सृजित हुए हैं, स्थानीय युवाओं और महिलाओं को रोजगार मिला है। इसी कड़ी में अब भगवान केदारनाथ मंदिर को सजाने के लिए स्थानीय फूलों का इस्तेमाल करने की पहल की जा रही है। मई के पहले हफ्ते में केदारनाथ मंदिर के कपाट खुलने के मौके पर मंदिर को स्थानीय फूलों से सजाया जाएगा। मंदिर को सजाने के लिए बाहर से फूल नहीं मंगाए जाएंगे। सजावट के लिए प्लास्टिक के फूलों के इस्तेमाल पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। इस वक्त रुद्रप्रयाग जिले के जखोली, ऊखीमठ और अगस्त्यमुनि ब्लॉक के कई गांवों में गेंदे के फूलों की खेती की जा रही है। केदारघाटी में प्लास्टिक के फूलों के इस्तेमाल पर रोक लगने के बाद लोग पूजा में असली फूलों का इस्तेमाल करेंगे।

फूलों की बिक्री के लिए सोनप्रयाग और केदारनाथ में फूलों की मंडी लगाए जाने की प्लानिंग है। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि केदारनाथ में पहली बार लगने वाले हाट बाजार में भी स्थानीय फूल और उत्पाद बिक्री के लिए उपलब्ध होंगे। पिछले साल स्थानीय प्रसाद योजना शुरू की गई थी। जिसका सफल परिणाम देखने को मिला है। पिछले साल एक करोड़ से ज्यादा का प्रसाद बिका था। इसके जरिए दो हजार से ज्यादा महिलाओं को रोजगार मिला। अब स्थानीय फूलों के जरिए रोजगार सृजन की कवायद हो रही है। बता दें कि केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के वक्त मंदिर की सजावट के लिए दिल्ली और दूसरी जगहों से 15 क्विंटल से ज्यादा फूल मंगाने पड़ते हैं...जिस पर दो लाख रुपये तक का खर्चा आता है। धाम को स्थानीय फूलों से सजाने के फैसले से फूलों की खेती करने वाले किसानों को फायदा होगा, साथ ही दम तोड़ती खेती को भी जीवनदान मिलेगा। फूलों की बिक्री से स्थानीय युवाओं और महिलाओं को रोजगार के नए मौके मिलेंगे।


Uttarakhand News: GOOD NEWS FOR KEDARGHATI

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें