मेजर विभूति ढौंडियाल की ये कहानी कलेजा चीर देगी! भगवान इस परिवार को शक्ति दें

इसे भाग्य की विडंबना ही कहेंगे कि शहीद मेजर विभूति के परिवार में अब कोई पुरुष सदस्य नहीं बचा...उनके दादा और पिता पहले ही स्वर्ग सिधार चुके हैं, और अब देश की सेवा करते हुए वो भी चले गए।

Story of Major vibhuti dhaundiyal - Major vibhuti dhaundiyal, मेजर विभूति ढौंडियाल, Martyr Major vibhuti dhaundiyal, शहीद मेजर विभूति ढौंडियाल, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल देश की सेवा करते हुए शहीद हो गए, परिवार को उनकी शहादत पर गर्व है, लेकिन उनके खामोशी से चले जाने का अफसोस भी....अभी कितने सपने पूरे होने थे, कितने वादे निभाए जाने थे....लेकिन ऐसा हो पाता इससे पहले ही आतंकियों ने इस जांबाज को हमसे छीन लिया। मेजर विभूति तीन बहनों के इकलौते भाई थे, उनकी शहादत के बाद परिवार में कोई भी पुरुष नहीं बचा है। मेजर विभूति के दादा और पिता का निधन पहले ही हो चुका है। मेजर विभूति की अंतिम यात्रा में सांत्वना देने आए रिश्तेदार भी इस बात से बेहद परेशान दिखे। मुठभेड़ वाली रात मेजर विभूति की पत्नी और मां को अनहोनी की आशंका हो गई थी। पूरा परिवार रात भर जाग कर उनकी सलामती के लिए प्रार्थना करता रहा...पर अफसोस दुआएं काम नहीं आईं। सुबह उनकी शहादत की खबर मिलते ही परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा।

यह भी पढें - ‘मैं वापस आऊंगा’..मेजर विभूति ढौंडियाल ने पत्नी से किया था वादा..तिरंगे में लिपटे आए
आतंकियों के खिलाफ चले ऑपरेशन पर जाने से पहले मेजर विभूति ने रविवार रात दस बजे अपनी पत्नी और मां से फोन पर बात की थी। इस दौरान उन्होंने बताया कि वो एक ऑपरेशन पर जा रहे हैं, वापस लौट कर बात करेंगे। अपना खयाल रखना। बात करने के बाद पत्नी, मां और बहन अपने-अपने कमरे में सोने चले गए। रात साढ़े बारह बजे पत्नी निकिता की अचानक आंख खुल गई, उन्हें बेचैनी होने लगी। मेजर विभूति ढौंडियाल की मां सरोज ढौंडियाल भी घबरा कर उठ गईं...पूरे परिवार को किसी अनहोनी की आशंका हो गई थी....सुबह होते-होते उनका बुरा सपना हकीकत बन चुका था। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में मेजर विभूति ढौंडियाल गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें इलाज के लिए श्रीनगर के अस्पताल लाया गया, जहां इलाज के दौरान वो शहीद हो गए।


Uttarakhand News: Story of Major vibhuti dhaundiyal

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें