शहीद मोहनलाल रतूड़ी की बेटी पढ़ेगी-लिखेगी, शादी तक का खर्च उठाएंगे गणेश जोशी

मसूरी विधायक गणेश जोशी ने शहीद मोहनलाल रतूड़ी की सबसे छोटी बेटी की पढ़ाई और शादी का पूरा खर्चा उठाने का ऐलान किया है।

MUSSOORIE MLA GOOD INITIATIVE FOR MOHANLAL RATURI DAUGHTER - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, शहीद मोहनलाल रतूड़ी, गणेश जोशी, मसूरी विधायक,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Shaheed Mohanlal Rathudi, Ganesh Joshi, Mussoo, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए जवानों के परिवारों की मदद के लिए लोग बढ़-चढ़कर आगे आ रहे हैं। इसी कड़ी में मसूरी विधायक गणेश जोशी ने सराहनीय पहल की है। विधायक गणेश जोशी ने सीआरपीएफ के एएसआई शहीद मोहनलाल रतूड़ी की सबसे छोटी बेटी की पढ़ाई और शादी का पूरा खर्चा उठाने का ऐलान किया है। बुधवार को मसूरी विधायक ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को शहीदों के परिवार के लिए डेढ़ लाख रुपये का चेक भी सौंपा। इस मौके पर उन्होंने कहा कि शहीदों का बलिदान अमूल्य है, इसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। विधायक गणेश जोशी ने कहा कि आतंकी हमले में शहीद उत्तराखंड के जवान मोहनलाल रतूड़ी की सबसे छोटी बेटी की पढ़ाई और शादी की जिम्मेदारी अब उनकी है। बिटिया की पढ़ाई और शादी का पूरा खर्चा वो खुद उठाएंगे। इस बीच हम आपको शहीद की बेटी का एक मार्मिक वीडियो भी दिखा रहे हैं।

जिस वक्त शहीद मोहनलाल रतूड़ी का पार्थिव शरीर बेटी के सामने आया, तो बेटी कुछ इस तरह से निहार रही थी।

तस्वीर क्यों बन गए हो पापा?

कुछ बोलते क्यों नहीं?

दुलारते क्यों नहीं?

कुछ तो बोलो?

देखो मैं हूँ आपकी बिटिया।

सुनो तो पापा! कुछ तो बोलो!!

.......ये ही सब पूछ रही है, कह रही है शायद शहीद मोहन लाल रतूड़ी की बिटिया

Posted by Dankaram on Saturday, February 16, 2019


शहीद मोहनलाल रतूड़ी उत्तरकाशी के बनकोट गांव के रहने वाले थे। वो सीआरपीएफ की 110वीं वाहिनी में एएसआई थे। 53 वर्षीय शहीद मोहनलाल के पांच बच्चे हैं। सबसे बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है, जबकि दूसरे नंबर का बेटा योगा प्रशिक्षक है। तीसरी बेटी वैष्णवी ने ग्रेजुएशन किया है, चौथी बेटी गंगा अभी 12वीं में है। पांचवां बेटा राम 9वीं कक्षा में पढ़ता है। 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में एएसआई मोहनलाल रतूड़ी भी शहीद हो गए थे। विधानसभा सत्र के दौरान प्रदेश के सभी विधायकों ने पुलवामा हमले में शहीदों के आश्रितों के लिए एक माह का वेतन देने का फैसला लिया था। विधायक गणेश जोशी ने कहा कि राज्य सरकार शहीदों के सम्मान में हमेशा खड़ी है, सरकार शहीदों के परिवारों को अपना परिवार मानती है। उसने जितना हो सकेगा शहीदों के परिवार की मदद करेंगे।


Uttarakhand News: MUSSOORIE MLA GOOD INITIATIVE FOR MOHANLAL RATURI DAUGHTER

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें