जयपुर जेल में पाकिस्तानी कैदी की पीट-पीटकर हत्या, देहरादून जेल में अलर्ट!

जयपुर में कैदी की हत्या के बाद देहरादून में अलर्ट जारी किया गया है। दून जेल में बंद पाकिस्तानी कैदी की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

alert in dehradun jail says report - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, देहरादून जेल, देहरादून, जयपुर जेल, देहरादून न्यूज, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Dehradun Jail, Dehradun, Jaipur Prison,, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

पुलवामा हमले में 40 से ज्यादा जवानों की मौत से देश भर में गुस्सा है। जयपुर के सेंट्रल जेल में साथी कैदियों ने एक पाकिस्तानी कैदी की पीट-पीटकर हत्या कर दी। पाकिस्तानी कैदी पर आतंकी गतिविधियों में शामिल होने और पाकिस्तान के लिए जासूसी करने का आरोप था। अमर उजाला वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक जयपुर सेंट्रल जेल में हुई घटना का असर देहरादून में भी देखने को मिल रहा है। जयपुर में पाकिस्तानी कैदी की हत्या के बाद देहरादून जेल में बंद पाकिस्तानी कैदी की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। आईजी जेल की तरफ से मिले अलर्ट के बाद पाक कैदी को अलग बैरक में रखा गया है। उसकी गतिविधियों पर नजर रखने के भी आदेश जारी किए गए हैं। बताया जा रहा है कि जयपुर सेंट्रल जेल में पुलवामा हमले के पाद पाक कैदी ने पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी की थी, इससे गुस्साए हिंदुस्तानी कैदियों ने उससे मारपीट की। बाद में उसका शव बैरक में पड़ा मिला।

जयपुर में हुई घटना के बाद देहरादून में भी अलर्ट जारी किया गया है। बता दें कि पाकिस्तान मूल का एक युवक अमान दुष्कर्म के दोष में दून जेल में बंद है। उसे 10 साल की सजा सुनाई गई है। झगड़े की आशंका के चलते उसे दूसरे कैदियों से अलग रखा गया है। जेल प्रशासन ने उसे दूसरे कैदियों से अलग सामान्य बैरक में अकेले बंद किया है, साथ ही जेल में पहरा बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं। बता दें कि साल 2013 में चकराता रोड निवासी एक युवती ने अमान पर दुष्कर्म और ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया था। पुलिस जांच में पता चला कि अमान देवबंद का रहने वाला है, वो मूल रूप से पाकिस्तान का रहने वाला है और बचपन में अपनी मां के साथ देवबंद आ गया था। साल 2016 में उसे देहरादून सेशन कोर्ट ने दुष्कर्म के दोष में 10 साल की सजा सुनाई थी।


Uttarakhand News: alert in dehradun jail says report

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें