डाकू मलखान सिंह का ऐलान..‘700 बागियों के साथ पाकिस्तान को धूल चटा दूंगा’

पुलवामा आतंकी हमले के बाद चंबल का पूर्व डाकू मलखान सिंह गुस्से में है। उसने कहा कि सरकार इजाजत दे तो मैं अपने 700 साथियों के साथ पाकिस्तान को ठिकाने लगा दूंगा।

MALKHAN SINGH ON PULWAMA ATTACK - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, पुलवामा अटैक, डाकू मलखान सिंह, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Pulwama Attack, Daku Malkhan Singh, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

एक वक्त था जब चंबल बागियों के खौफ से दहलता था। यहां एक ऐसा बागी था जिसने कई दशकों तक पुलिस के नाक में दम कर दिया था। जी हां ये मशहूर डाकू मलखान सिंह..चंबल का पुराना इतिहास रहा है कि वहां के हर घर का एक दरवाजा गांव में खुलता तो दूसरा दरवाजा बीहड़ में खुलता है। बीहड़ पर राज कर चुका मशहूर डाकू मलखान सिंह...जिसकी गोलियों से ही लोग कांपने लगते थे। आज वही डाकू पुलवामा आतंकी हमले से इतना आहत हुआ है कि बोला ‘मध्य प्रदेश में 700 बागी बचे हैं। शासन चाहे तो बिना शर्त, बिना किसी वेतन के हम अपने देश के लिए बॉर्डर पर जाकर मरने को तैयार हैं’। डाकू मलखान सिंह ने कहा कि ‘हमसे लिखवा लो, कि अगर हम मारे गए तो कोई जुर्म नहीं। हम अपना बचा हुआ जीवन सीमा पर लगाने को तैयार हैं और अगर हम अपनी बात से पीछे हट जाएं तो हमारा नाम मलखान सिंह नहीं’।

मलखान सिंह ने ये भी कहा कि ‘हम कोई अनाड़ी नहीं है, मां भवानी का आर्शीवाद रहा तो मलखान सिंह का कोई बाल बाका नहीं कर पाएगा। हम चाहते हैं कि सरकार हमें बार्डर पर भेजे। मलखान ने कह दिया कि ‘देश के सारे नेताओं को एक साथ बैठकर कश्मीर पर फैसला लेना चाहिए। अब पाकिस्तान की धज्जियां उड़ाने का समय आ गया है इसलिए अब एकजुट होकर आतंक को मिटाना होगा’। 70 के दशक में चंबल घाटी के गांवों में आतंक का पर्याय बन चुके मलखान सिंह को पकडऩा पुलिस के लिए बहुत ही मुश्किल था। मलखान ने करीब 1982 तक चंबल घाटी पर राज किया। इसके बाद उसने तत्कालीन सीएम अर्जुन सिंह के सामने आत्मसर्मपण किया था। साढ़े तीन दशक पहले चंबल के बीहड़ में आतंक फैलाने वाला मलखानसिंह खुद को डाकू कहना गलत बतलाता है। अब मलखान सिंह ने पाकिस्तान के खिलाफ खुली जंग की बात कही है।


Uttarakhand News: MALKHAN SINGH ON PULWAMA ATTACK

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें