Video: दिल्ली-NCR में गूंजा ‘गोल्जयू देवता’ का जयघोष, उत्तराखंडियों की यादगार पहल

अच्छा लगता है, जब देश के महानगरों में भी उत्तराखंड की परंपरा और संस्कृति की झलक देखने को मिलती है। हम आपके लिए एक खास वीडियो लेकर आए हैं।

GWEL MAHOTSAW IN PRATAP VIHAR GAZHIABAD - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, उत्तराखंड संस्कृति,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Uttarakhand Culture, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

कहते हैं अपनी परंपरा और जड़ों से जुड़े लोग ही आगे चलकर अपनी संस्कृति के पुरोधा बनते हैं। आज उत्तराखंड के लाखों लोग ऐसे हैं, जो भले ही देवभूमि से बाहर रह रहे हों, लेकिन इसके बाद भी वो अपनी जड़ों से जुड़े हैं। आप कहीं भी रहें लेकिन अपनी संस्कृति और परंपरा का प्रचार प्रसार करें...तो आंखों और दिल को सुकून मिलता है। सबसे बेहतर ये है कि शहरों में रहने वाले उत्तराखंडी युवा इस काम में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। इस बीच दिल्ली एनसीआर के गाजियाबाद के प्रताप विहार में एक बेहतरीन ऩजारा देखने को मिला। ऐसा पहली बार हुआ जब दिल्ली और एनसीआर में रहने वाले उत्तराखंडी भाई-बहनों ने ग्वेल महोत्सव का आयोजन कराया। देवभूमि के गोल्ज्यू महाराज के जयकारों से प्रताप विहार गूंज उठा। 16 और 17 फरवरी को इसका आयोजन करवाया गया था और इसकी सबसे खास बात ये है कि कार्यक्रम में सबसे पहले देश के अमर शहीदों के जयकारे लगाए गए।

इस कार्यक्रम में आशा नेगी, बिशन हरियाला, प्रकाश काहला, विक्रम रावत और प्रकाश मिलनसार ने अपनी अपनी प्रस्तुतियों से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। कुमाऊं सांस्‍कृतिक समिति प्रताप विहार गाजियाबाद की इस पहल की हर किसी ने सराहना की है। गोपाल सिंह बिष्ट की अध्यक्षता में पहली बार इस कार्यक्रम का आयोजन कराया गया।


कलश यात्रा हुई और देवभूमि के न्‍यायकारी देव गोलू देवता का जागरण किया गया। खासतौर पर हम मनीष बिष्ट और उनके साथियों का भी शुक्रिया अदा करना चाहते हैं, जिन्होंने हम तक इस अच्छी खबर को पहुंचाया। इस दौरान भजन और अन्‍य धार्मिक कार्यक्रम के साथ साथ भंडारा भी करवाया गया।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: GWEL MAHOTSAW IN PRATAP VIHAR GAZHIABAD

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें