देवभूमि के दो वीर सपूत...एक ही पाठशाला से पढ़ाई की, अब शहीद होकर चले गए

जम्मू-कश्मीर में शहीद मेजर चित्रेश बिष्ट और मेजर विभूति ढौंडियाल ने अपनी शिक्षा एक ही स्कूल से हासिल की थी।

major chitresh bisht and major vibhuti dhaundiyal - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, मेजर विभूति ढौंढियाल, मेजर चित्रेश बिष्ट, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Major Vibhuti Dhondial, Major Chitresh Bisht, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देश के प्रति अपना कर्तव्य निभाते हुए शहीद होने वाले मेजर चित्रेश सिंह बिष्ट और मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल ने वीरता और शौर्य की मिसाल पेश की है। उत्तराखंड के इन दोनों जांबाजों को देशभक्ति का जज्बा एक ही स्कूल से मिला था। दोनों ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा देहरादून के प्रतिष्ठित सेंट जोजफ्स एकेडमी से हासिल की थी। इसे नियति का क्रूर मजाक ही कहा जाएगा कि एक ही स्कूल में पढ़ने वाले देश के इन वीर सपूतों ने जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ चले ऑपरेशन में जान की कुर्बानी दे दी। अपने पूर्व छात्रों की शहादत से स्कूल परिवार गम में डूबा है, हालांकि उन्हं गर्व है कि उनके छात्र देश के काम आए। आदर्श शिक्षा अपने छात्रों को देश की सेवा करने की सीख देती है। उत्तराखंड के युवाओँ में देश सेवा का जुनून है। आईएमए के साथ ही दून के स्कूल भावी पीढ़ी में देश सेवा के जज्बे की नींव डाल रहे हैं। इन्हीं में एक है प्रतिष्ठित सेंट जोजफ्स एकेडमी....

शहीद मेजर चित्रेश सिंह बिष्ट और मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा इसी स्कूल से ग्रहण की। मेजर चित्रेश ने वर्ष 2005 में बारहवीं पास की, जबकि मेजर विभूति ने यहां दसवीं तक की पढ़ाई की। मेजर विभूति ने 2000 में दसवीं पास करने के बाद 12वीं की परीक्षा पाइनहॉल स्कूल से पास की थी। सेंट जोजफ्स एकेडमी से पास होने वाले छात्र सेना में ऊंचे ओहदों तक पहुंचे हैं। पूर्व एयर चीफ मार्शल एसके सरीन, उप सेना प्रमुख ले जनरल एमएमएस राय, एयर मार्शल राजीव दयाल माथुर, वाइस एडमिरल विनय बधवार समेत कई नाम न सिर्फ स्कूल का गौरव हैं, बल्कि भावी पीढ़ी को प्रेरणा भी दे रहे हैं। यही नहीं कश्मीर में 52 ऑपरेशन का सफल नेतृत्व कर चुके जांबाज मेजर रोहित शुक्ला भी इसी स्कूल से पढ़े हैं। उन्हें सेना मेडल के साथ ही शौर्य चक्र से भी नवाजा जा चुका है। स्कूल प्रबंधन ने कहा कि शहीद मेजर चित्रेश सिंह बिष्ट और मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की शहादत पर उन्हें गर्व है। दोनों ने देश के प्रति अपना फर्ज निभाकर स्कूल को गौरवान्वित किया है।


Uttarakhand News: major chitresh bisht and major vibhuti dhaundiyal

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें