उत्तराखंड शहीद: पिता की अर्थी को बेटी ने किया सेल्यूट, कहा ‘मैं भी सेना में जाऊंगी’

धन्य हैं देश के ऐसे वीर सपूत और धन्य हैं उन शहीदों की बेटियां दो अपने दिल में सेना में भर्ती होने का सपना पाले हैं..ये एक भावुक पल था...आप भी देखिए

UTTARAKHAND MARTYER MOHANLAL RATURI DAUGHTER - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, शहीद चित्रेश बिष्ट, देहरादून, देहरादून न्यूज,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Shahid Chitresh Bisht, Dehradun, Dehradun News, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड शहीद मोहनलाल रतूड़ी….अपने पिता की शहादत की खबर से बेटी गमज़दा थी। लेकिन जब उस बेटी ने पिता के पार्थिव शरीर को तिरंगे में लिपटा देखा तो बहादुरी दिखाई। उसने आंसू और पूरे जोश के साथ पिता को सेल्यूट किया। शहीद मोहनलाल रतूड़ी की बेटी का नाम गंगा रतूड़ी है। उनका कहना था कि पिता की शहादत का बदला लेने के लिए वो सेना में भर्ती होंगी। गंगा रतूड़ी इस वक्त सीमा द्वार स्थित केंद्रीय विद्यालय में 12वीं की छात्रा है। उन्होंने कहा कि पहले से उसकी इच्छा पुलिस में जाने की थी। लेकिन, पिता की शहादत के बाद वो अब पूरी तरह सेना में जाने पर फोकस करेगी। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में उत्तरकाशी के मोहनलाल रतूड़ी की शहादत की खबर से इलाके में मातम पसरा है। मोहनलाल रतूड़ी उत्तरकाशी के बनकोट के रहने वाले थे। मोहनलाल का गांव से बेहद लगाव था।

परिवार के देहरादून में होने के बावजूद उन्होंने गांव से रिश्ता नहीं तोड़ा, वो गांव में अपना नया मकान बनवा रहे थे, ताकि रिटायरमेंट के बाद अपनी जन्मभूमि के करीब रह सकें, लेकिन उनका ये सपना अधूरा रह गया। परिजनों को मोहनलाल की शहादत पर गर्व है, लेकिन उनके यूं चले जाने का बेहद अफसोस भी है। मोहनलाल रिटायरमेंट के बाद गांव में रह कर समाजसेवा करने का सपना देखा करते थे, लेकिन ये सपना...केवल सपना ही बनकर रह गया। गांव वालों ने बताया कि मोहनलाल बेहद मिलनसार थे, वो धार्मिक प्रवृत्ति के थे। सेना में भर्ती होने से पहले मोहनलाल रामलीला में राम का पात्र निभाया करते थे। बच्चों की पढ़ाई के लिए मोहनलाल देहरादून जरूर आ गए थे, लेकिन गांव से उनका रिश्ता हमेशा जुड़ा रहा।


Uttarakhand News: UTTARAKHAND MARTYER MOHANLAL RATURI DAUGHTER

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें