उत्तराखंड शहीद वीरेंद्र सिंह, ढाई साल के बेटे ने दी पिता को मुखाग्नि

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद वीरेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पहुंचा, जहां उनके ढाई साल के बेटे ने पिता के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी।

2 nd half year old son of martyr performs cremation - शहीद वीरेंद्र सिंह, martyr virendra singh, पुलवामा हमला, Pulwama Terrorist Attacks, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

हर आंख नम थी...परिजनों के आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे थे...शहीद जवान वीरेंद्र राणा का पार्थिव शरीर जैसे ही उनके पैतृक गांव पहुंचा...आंसूओं का सैलाब उमड़ पड़ा। नन्हें बच्चों को रोता देख...वहां मौजूद हर शख्स गमगीन हो गया। पुलवामा अटैक में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवान वीरेंद्र राणा का पार्थिव शरीर सैन्य सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव मोहम्मदपुर भुढ़िया गांव लाया गया...जहां सैकड़ों लोगों ने शहीद के अंतिम दर्शन किए। लोगों ने शहीद को नमन कर उन्हें आखिरी श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य, कपड़ा राज्यमंत्री अजय टम्टा और स्थानीय विधायक पुष्कर धामी भी मौजूद थे। उन्होंने शहीद को श्रद्धांजलि दी, साथ ही शहीद के परिजनों को सांत्वना दी।

यह भी पढें - उत्तराखंड में कश्मीरी छात्रों को लेकर बवाल...जगह जगह होंगे वेरिफिकेशन
अंतिम दर्शन के बाद शहीद के पार्थिव शरीर को श्मशान घाट ले जाया गया, जहां उनके चार साल के बेटे ने उन्हें मुखाग्नि दी। नन्हें बेटे को मुखाग्नि देते देख वहां मौजूद लोगों की आंखे नम हो गईं। शहीद की अंतिम यात्रा के दौरान लोग वीरेंद्र जिंदाबाद, वीरेंद्र अमर रहे के नारे लगाते हुए चल रहे थे। शहीद को सैन्य सम्मान के साथ आखिरी विदाई दी गई। शहीद को अंतिम सलामी देने के लिए काठगोदाम सीआरपीएफ से 35 जवानों की बटालियन भी गांव पहुंची थी। इस मौके पर पूर्व विधायक गोपाल सिंह राणा, डीएम नीरज खैरवाल, एसएसपी बरिंदर सिंह, एसडीएम विजय नाथ शुक्ला, सीओ कमला बिष्ट, कोतवाल संजय पाठक समेत कई लोग मौजूद रहे। आपको बता दें कि गुरुवार को अवंतिपोरा इलाके में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे, इनमें ऊधमसिंहनगर के वीरेंद्र सिंह भी शामिल थे।


Uttarakhand News: 2 nd half year old son of martyr performs cremation

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें