उत्तराखंड के 76 लाख वोटर्स को मिलेगी हर जानकारी... इस टोलफ्री नंबर पर कॉल करें

देहरादून में फोटोयुक्त निर्वाचक नामावली का प्रकाशन किया गया, इसमें उत्तराखंड की मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सौजन्या ने प्रेसवार्ता में विस्तृत जानकारी दी..

Launching of Voter Help Line 1950 by CEO Uttarakhand Saujanya - Voter Help Line 1950, Voter Help Line, 1950 Voter Help Line uttarakhand, वोटर हेल्पलाइन, वोटर हेल्पलाइन 1950, वोटर हेल्पलाइन उत्तराखंड, मुख्य निर्वाचन अधिकारी, मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तराखंड, सीईओ उतराखंड, उत्तराखंड मतदाता, उत्तराखंड पुरुष मतदाता, उत्तराखंड महिला मतदाता, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि वोटर हेल्पलाईन 1950 पर मतदाता सूची में अपने नाम व विवरण का सत्यापन किया जा सकता है। ये टोल फ्री नम्बर है जिसे 1 फरवरी को औपचारिक रूप से लांच किया जाएगा। वोटर आईकार्ड बनवाने, बीएलओ व पोलिंग बूथ से संबंधित जानकारी के लिए इस टोल फ्री नम्बर पर सम्पर्क किया जा सकता है। मीडिया सेटर सचिवालय में आयोजित प्रेस वार्ता में फोटोयुक्त विधानसभा निर्वाचक नामावली की 1 जनवरी 2019 के आधार पर विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण के अंतिम प्रकाशन में 31 जनवरी 2019 को मतदाताओं के आंकडों की जानकारी दी। CEO उत्तराखंड ने बताया कि विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण का अंतिम प्रकाशन किया गया है। परंतु अभी भी मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन किया जा सकता है। यहाँ आपको ये बता दें कि ये अंतिम मतदाता सूची नहीं है। आगे पढ़िए कुछ और ख़ास बातें..

यह भी पढें - उत्तराखंड: 3 लाख सरकारी कर्मचारी हड़ताल पर, ठप हुआ काम..वित्त मंत्री ने दिए बड़े संकेत
चुनाव की घोषणा नहीं हुई है। चुनाव में नामांकन की अंतिम तिथि तक निर्वाचक नामावली को फाईनल रूप दिया जाएगा। परंतु इसके व्यक्ति को मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वाने या कोई संशोधन करने के लिए नामांकन की अंतिम तिथि से लगभग 10 दिन पहले तक आवेदन कर देना होगा। महिला मतदाताओं व 18-19 आयुवर्ग के मतदाताओं पर विशेष फोकस करने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस बार सौ प्रतिशत वीवीपीएटी मशीन का प्रयोग किया जाएगा। मतदाताओं को ईवीएम व वीवीपीएटी के बारे में जानकारी देने के लिए पूरे प्रदेश में  ग्राम स्तर तक मोक-पोल व प्रदर्शन आयोजित किए जा रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारियों को स्वीप के माध्यम से मतदाता जागरूकता के कार्यक्रम आयोजित करने के लिए निर्देशित किया गया है। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा तय मानकों के आधार निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों के तबादलों के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इस अवसर पर ईवीएम व वीवीपीएटी का प्रदर्शन भी किया गया।

यह भी पढें - उत्तराखंड: सच साबित हुई मौसम विभाग की चेतावनी, बर्फबारी शुरू..5 जिलों के लिए अलर्ट
फोटोयुक्त विधानसभा निर्वाचक नामावली की 1 जनवरी 2019 के आधार पर विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण के अंतिम प्रकाशन में 31 जनवरी 2019 को मतदाताओं के आंकडों की जानकारी देते हुए उत्तराखंड की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने बताया कि पुनरीक्षण के बाद प्रदेश में कुल मतदाताओं की संख्या 76,28,526 है। इनमें पुरूष मतदाता 39,84,327 महिला मतदाता 36,43,969 व तृतीय लिंग के मतदाता 230 हैं। इस प्रकार ड्राफ्ट प्रकाशन की तुलना में मतदाताओं की संख्या मे विशुद्ध वृद्धि 65,696 रही है। ई-पी अनुपात ड्राफ्ट में 64.40 प्रतिशत था जबकि अंतिम प्रकाशन में यह 68.30 प्रतिशत है। लिंग अनुपात ड्राफ्ट में 912 था जबकि अंतिम प्रकाशन में 915 रहा है। कुल पोलिंग स्टेशन 11235 हैं इनमें शहरी क्षेत्रों में 2548 व ग्रामीण क्षेत्रों में 8687 है। इसी प्रकार कुल पोलिंग स्टेशन लोकेशन 8367 है। इनमें शहरी क्षेत्रों में 1107 व ग्रामीण क्षेत्रों में 7260 हैं। बताया गया कि सर्वाधिक दूरस्थ मतदान केंद्र थराली विधानसभा क्षेत्र में 40-प्रा0वि0 कनौल व बद्रीनाथ विधानसभा क्षेत्र में 43-प्रा0वि0 दुमक हैं।


Uttarakhand News: Launching of Voter Help Line 1950 by CEO Uttarakhand Saujanya

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें