उत्तराखंड का अमरनाथ..इस रहस्यमयी गुफा में मौजूद हैं बाबा बर्फानी

रहस्यों से भरे उत्तराखंड में एक रहस्य वो गुफा भी है, जहां हर साल बर्फ का शिवलिंग आकार लेता है। आइए इस बारे में जानिए

Chota amarnath in uttarakhand - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, उत्तराखंड अमरनाथ, अमरनाथ उत्तराखंड, नीति माणा उत्तराखंड, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Uttarakhand Amarnath, Amarnath Uttarakhand, niti mana Uttarakhand, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देवभूमि उत्तराखंड के पर्वत खुद में अनेक रहस्यों को समेटे हुए है। ऐसी ही एक रहस्यमय गुफा भारत-चीन सीमा पर बसे नीती गांव में मौजूद है, जहां शीतकाल में बर्फबारी के बाद बर्फ का विशाल शिवलिंग आकार लेता है। बाबा बर्फानी की मौजूदगी के चलते इस जगह को लोग छोटा अमरनाथ धाम के नाम से भी जानते हैं। दिसंबर से मार्च तक यहां बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। इस मंदिर को श्रद्धालु नीती महादेव मंदिर के नाम से जानते हैं, जो कि चमोली जिले में जोशीमठ से सौ किलोमीटर दूर भारत-चीन सीमा पर स्थित अंतिम गांव नीति में है। मंदिर के पास ही एक गुफा है जहां दिसंबर से मार्च के बीच बर्फ का शिवलिंग आकार लेता है। शिवलिंग पर पहाड़ से लगातार जलधारा गिरती रहती है। स्थाानीय लोगों के साथ ही सेना और आईटीबीपी के जवानों के लिए भी इस गुफा का विशेष महत्व है।

यह भी पढें - उत्तराखंड को यूं ही नहीं कहते ‘‘देवभूमि’’, स्वर्ग की सीढ़ियां यहीं मौजूद हैं..विज्ञान भी हैरान है
सेना के जवान यहां माथा टेकने के बाद ही आगे का रास्ता तय करते हैं। ये पूरा इलाका सेना के नियंत्रण में है, जिस वजह से यहां आने के लिए श्रद्धालुओं को सेना की परमिशन लेनी पड़ती है। स्थानीय लोग कहते हैं कि यहां बाबा बर्फानी सदियों से विराजमान हैं, हालांकि बाहरी लोगों को इस जगह के बारे में कम ही पता है। ये गुफा टिम्मरसैंण में पहाड़ी पर स्थित है। सर्दियों में बर्फबारी के बाद यहां 10 फुट ऊंचा शिवलिंग बन जाता है, शीतकाल के बाद जब बर्फ पिघलती है तो शिवलिंग मूल आकार में आ जाता है। बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए श्रद्धालु सड़क से दो किलोमीटर की खड़ी चढ़ाई कर गुफा तक पहुंचते हैं। कहा जाता है कि यहां मांगी हर मुराद बाबा बर्फानी जरूर पूरी करते हैं।


Uttarakhand News: Chota amarnath in uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें