उत्तराखंड में उबाल: कर्णप्रयाग में छात्रा से गैंगरेप, हैवानों को सख्त सजा देने की तैयारी

उत्तराखंड के चमोली जिले के कर्णप्रयाग में छात्रा से गैंगरेप के बाद हैवानों को फांसी की सजा देने की मांग हो रही है। छात्रों में आक्रोश देखने को मिल रहा है।

Students demand death sentence for karnaprayag accused - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, कर्णप्रयाग रेप, कर्णप्रयाग गैंगरेप, कर्णप्रयाग न्यूज, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Karnprayag Rep, Karnprayag Gangrepe, Karnprayag News, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देवभूमि में छात्राओं के खिलाफ दुष्कर्म और हिंसा के बढ़ते मामलों से लोगों में गुस्सा है। पौड़ी में सिरफिरे ने छात्रा पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी, छात्रा की मौत को अभी एक हफ्ता भी नहीं हुआ है कि कर्णप्रयाग में एक छात्रा के साथ तीन युवकों द्वारा दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। घटना से गुस्साए छात्रों और स्थानीय लोगों ने मुख्य बाजार के साथ-साथ राजमार्ग को जाम कर अपना विरोध जताया। जाम की वजह से देहरादून, हरिद्वार, गोपेश्वर जाने वाली गाड़ियां साढ़े तीन घंटे तक बदरीनाथ हाइवे पर फंसी रहीं। आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद कहीं जाकर छात्र जाम खोलने को राजी हुए। लोगों ने दुष्कर्म के आरोपियों को फांसी पर लटकाने की मांग की है। अब आपको बताते हैं कि ये वारदात कबकी है।

यह भी पढें - देवभूमि में रिश्ते शर्मसार... ससुर ने लूट ली बहू की अस्मत, पति ने कराया गर्भपात
घटना 25 दिसंबर की है। पीड़ित छात्रा अपने दोस्त के साथ पंचपुलिया के पास घूम रही थी, इसी दौरान तीन युवक वहां पहुंचे और छात्रा को डर-धमका कर अपने साथ ले गए। तीनों युवकों ने जान से मारने की धमकी देकर छात्रा के साथ रेप किया। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। बताया जा रहा है कि तीनों आरोपी नगर पालिका में कूड़ा बीनने का काम करते हैं। शुक्रवार को घटना से गुस्साए छात्रों ने उमा देवी तिहारे के पास जमकर नारेबाजी की। इस दौरान मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने छात्रों को समझाने की खूब कोशिश की, लेकिन छात्र एसपी से बात करने की मांग पर अड़े रहे। जाम की सूचना मिलते ही एसडीएम जीआर बिनवाल मौके पर पहुंचे।

यह भी पढें - उत्तराखंड को ये किसकी नज़र लग गई ? कर्णप्रयाग के जंगल में युवती से गैंगरेप!
एसडीएम जीआर बिनवाल ने दुष्कर्म के दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में देने, नगर की कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने और बाहरी लोगों का सत्यापन करने का आश्वासन दिया। इसके बाद छात्र-छात्राओं ने जाम खोल दिया। छात्रों का आरोप है कि नगर पालिका की तरफ से कूड़ा बीनने वालों की तैनाती करते समय उनके सत्यापन में कोताही बरती गई। पालिका की तरफ से अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को काम पर रखा जा रहा है, कर्मचारियों की तैनाती करते वक्त पुलिस वैरिफिकेशन पर ध्यान नहीं दिया गया। बिना वैरिफिकेशन के चुने गए लोगों को नागरिकों के घर-घर भेजा जा रहा है, जिससे उनकी सुरक्षा खतरे में है। वहीं नगर पालिका अधिकारियों का कहना है कि आरोपी युवकों को कूड़ा निस्तारण के लिए अस्थाई तौर पर नियुक्त किया गया था। अगस्त से तीनों कचरा उठाने का काम कर रहे थे। छात्रों ने आरोपियों को फांसी देने की मांग की है।


Uttarakhand News: Students demand death sentence for karnaprayag accused

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें