देहरादून: चार बहनों का इकलौता भाई चला गया, जुनूनी इश्क ने उजाड़ी दो परिवारों की खुशियां

देहरादून में जो कुछ भी हुआ है, वो हैरान कर देने वाला है। इस मामले में कुछ बड़ी बातें सामने निकलकर आई हैं। ये भी जानिए।

Story behind dehradun double murder - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, देहरादून डबल मर्डर, देहरादून न्यूज, देहरादून क्राइम, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Dehradun Double Murder, Dehradun News, Dehradun Crime, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

वो अपने प्यार के साथ ही अपनी पूरी जिंदगी गुजारना चाहता था लेकिन उसी प्यार का खात्मा उसने अपने हाथों से कर दिया। नहर वाली गली, पलटन बाजार के रहने वाले कृष्णा और डीएल रोड की रहने वाली कशिश की प्रेम कहानी का ये दुखद अंत है। कृष्णा ने पहले कशिश का गला रेता और फिर खुद भी आत्महत्या कर दी। बताया जा रहा है कि कृष्णा, चार बहनों का इकलौता भाई था। कृष्णा की मौत की खबर सुनकर परिवारवाले बदहवास सी हालत में हैं। फिलहाल पुलिस कशिश के परिजनों के आने का इंतजार कर रही थी। ये प्रेम कहानी डेढ़ साल तक ही चली। डेढ़ साल तक दोनों के बीच खूब बातें हुईं। खुलकर प्यार का इजहार हुआ। अचानक दोनों की जिंदगी के बीच में ‘वो’ के शक ने दोनों को हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया।

यह भी पढें - देवभूमि में भीषण हादसा, खाई में गिरी कार..एक ही परिवार से उठी दो भाइयों की अर्थी
खबर है कि प्रेमिका पड़ोस के रहने वाले एक युवक से मिलती-जुलती थी। एक दिन प्रेमी ने प्रेमिका को दूसरे शख्स के साथ देखा, तो वो आपा खो बैठा। इस बात को लेकर दोनों के बीच कई बार झगड़ा भी हुआ। प्रेमी के जीजा ने कुछ दिन पहले दोनों को सामने बैठाया था और समझाया बुझाया था। इसका भी कोई नतीजा नहीं निकला। मंगलवार की सुबह प्रेमी ने प्रेमिका को फ्लैट पर बुलाया और उसकी हत्या कर दी। इसके बाद उसने खौफनाक कदम उठाया और अपनी कलाई काटकर जान देने की कोशिश की। कमरे में जिस तरह से खून फैला था, उसे देखकर लगता है कि वो काफी देर तक कमरे में टहलता रहा। इसके बाद उसने टूल बॉक्स से तार निकाला और पंखे से लटककर जान दे दी। मंगलवार की रात 9 बजे के करीब फ्लैट के मालिक ने पुलिस को फोन किया।

यह भी पढें - ऋषिकेश की दिव्यांग अंजना: कभी भीख मांगती थी, आज मुंहमांगे दाम पर बेचती है पेंटिंग
फ्लैट के मालिक ने बताया कि वो रात साढ़े आठ बजे फ्लैट पर पहुंचे, दरवाजा अंदर से बंद था। कई बार दरवाजा खटखटाने पर भी खुला नहीं। कमरे के अंदर से भी कोई आवाज़ नहीं आ रही थी। इसके बाद उन्होंने किसी अनहोनी की आशंका जताई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर फ्लैट का दरवाजा खोला तो हैरान रह गई। युवक का शव पंखे से लटका हुआ था। उसके सामने बेड पर एक युवती की लाश पड़ी थी। युवती की गर्दन धारदार हथियार से रेती गई थी। खून फर्श पर जम चुका था। इस तरह से एक जुनूनी इश्क आखिरी सांसें ले चुका था। आज के युवाओं के लिए ये कहानी इसलिए भी जरूरी है क्योंकि जरा सा शक उन्हें गहरे अंधेरे में ले जा सकता है।


Uttarakhand News: Story behind dehradun double murder

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें