देहरादून: कुछ घंटे पहले जन्मी बच्ची से बेरहमी..25 फीट ऊंचे पुल से फेंका, रातभर ठंड में तड़पकर मौत

ऐसे बेरहम लोगों का पता लगाया जाना बेहद जरूरी है, जिन्होंने देहरादून में मानवता के नाम पर काला दाग लगा दिया।

shameful act with newborn girl child in dehradun - उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, देहरादून क्राइम, बिंदाल पुल देहरादून, देहरादून हादसा, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Dehradun Crime, Bindal Bridge Dehradun, Dehradun accident, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

वो बेटी थी कोई कूड़ा-करकट नहीं, जिसे किसी अपने ने 25 फीट ऊंचे पुल से नीचे फेंक दिया, गिरने से हाथ-पैर टूटे, जगह-जगह लगे जख्म, रोते-रोते चल बसी। देहरादून में जो कुछ भी हुआ है, उससे हर कोई हैरान है। उत्तराखंड की राजधानी कहे जाने वाले देहरादून में ये क्या हो रहा है? कुछ बेरहमों ने कुछ घंटे पहले जन्मी मासूम बच्ची को 25 फीट ऊंचे बिंदाल पुल से फेंक दिया। देहरादून शहर के बीचों बीच गुजरती है बिंदाल नदी। इस नदी के एक तरफ गोविंदगढ़ कॉलोनी है तो दूसरी तरफ झुग्गी-झोपड़ियां हैं। बताया जा रहा है कि बच्ची के रोने की आवाज़ सबसे पहले नगर निगम के एक कर्मचारी ने सुनी। वो सुबह पांच बजे के करीब अपने पशुओं को चारा देने केलिए घर से बाहर निकले थे। जब रोने की आवाज सुनाई दी, तो वो नदी किनारे कीचड़ से होते हुए बच्ची के पास पहुंचे।

यह भी पढें - देहरादून में सफर करने वाले ध्यान दें..8 दिसंबर तक इन रास्तों पर जाने से बचें, रूट डायवर्ट
कुलदीप के मुताबिक जब उन्होंने मासूम को उठाया, तो वो बेतहाशा रो रही थी। बच्ची के हाथ पैर टूटे हुए थे। आगे की कहानी बेहद दर्दनाक है। कुलदीप ने बच्ची को पहले एक कपड़े से साफ किया और उसके बाद महिला अस्पताल पहुंचाया। बताया जा रहा है कि अस्पताल में बच्ची ने दोपहर लगभग दो बजे दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद से मौके पर मौजूद लोगों में भारी गुस्सा है। लोगों का कहना है कि वो मासूम बच्ची बस्ती के लोगों में से किसी की भी नहीं है। शायद बच्ची को बाहर से लाकर यहां फेंका गया है। जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया है, वो बेहद शर्मनाक है और लोग बार बार उस शख्स को कोस रहे हैं।
पुलिस द्वारा की गई जांच-पड़ताल में इस बात के संकेत मिले हैं कि नवजात बच्ची को कहीं बाहर से लाकर इस जगह पर फेंका गया।

यह भी पढें - उत्तरकाशी में ट्रक और मैक्स की भिड़ंत, 5 शिक्षिकाओं समेत आठ लोग घायल
बताया ये भी जा रहा है कि फेंकने वाले को इस इलाके की जानकारी भी रही होगी। तभी उसने शातिर तरीके से ये काम किया। कोई मां-पिता अपने बच्चे के प्रति इतने निर्दयी कैसे हो सकते हैं? कोई किसी मासूम को कूड़ा-करकट समझकर 25 फीट ऊंचे पुल से कैसे फेंक सकता है? देहरादून में इन दिनों यही दो सवाल लोगों को विचलित कर रहे हैं। दरअसल, रविवार सुबह यहां बिंदाल नदी में रोती-बिलखती एक नवजात बच्ची मिली थी। ऊंचाई से फेंकने के कारण उसके हाथ-पैर टूट गए थे। बॉडी पर जगह-जगह कट के निशान थे। लोगों ने हॉस्पिटल पहुंचाकर उसे बचाने की कोशिश की, लेकिन अफसोस वो अहसनीय दर्द नहीं झेल पाई और चल बसी।


Uttarakhand News: shameful act with newborn girl child in dehradun

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें