Video: पहाड़ के वीरान गांव को संवारने में जुटे सांसद अनिल बलूनी, ऐसे आबाद होगा बौर गांव

वास्तव में आज के दौर में जनप्रतिनिधियोंं के द्वारा ऐसे काम किए जाने चाहिए, जो आने वाली कई पीढ़ियों के लिए प्रेरणादायक साबित हो सके।

Anil baluni started work in baur village - उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, अनिल बलूनी, सांसद अनिल बलूनी, बौर गांव, पौड़ी गढ़वाल, रिवर्स माइग्रेशन, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Anil Baluni, MP Anil Baluni, Bor village, P, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड में पलायन की मार किस कदर पड़ी है, ये तो हर कोई जानता है। अब सवाल ये है कि पलायन को जवाब किस तरीके से दिया जाए ? अकेले पहाड़ में कई ऐसे गांव, जो पूरी तरह से खाली हो चुके हैं। कुछ गांवों को तो घोस्ट विलेज का दर्जा भी दिया गया है, जहां अब कोई नहीं रहता। ऐसे घोस्ट विलेज को फिर से आबाद करना जरूरी है, लेकिन अब तक धरातल पर इनके लिए काम नहीं किया गया। ऐसे में उत्तराखंड से राज्यसभा सासंद अनिल बलूनी ने एक बेहतरीन काम किया। उन्होंने कोटद्वार से तरीबन 30 किलोमीटर दूर पहाड़ियों पर बसे छोटे से गांव बौर को गोद लिया। कभी आबाद रहे इस गांव में अब एक ही परिवार रहता है, जिसमें दो युवक और उनकी मां हैं। सासंद अनिल बलूनी ने इस गांव को बसाने के लिए हयात ग्रुप से बात की थी।

यह भी पढें - उत्तराखंड के 16 हजार विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों को तोहफा, रंग लाई सांसद बलूनी की पहल
आपको बता दें कि एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ था कि पौड़ी जिला सर्वाधिक पलायन की मार झेल रहा है। पौड़ी जिले के इस गांव को सासंद ने गोद लिया और रिवर्स पलायन की गंभीर कोशिश शुरू हुई। अब हयात ग्रुप की एक टीम ने दुगड्डा के पास मौजूद इस बौर गांव का दौरा किया। गांव में हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री से जुड़ी संभावनाओं की पड़ताल की गई। गांव का सर्वे किया गया, साथी ही गांव में सड़क और दूसरी मूलभूत सुविधाओं को पूरा करने की योजना तैयार हुई। हयात ग्रुप्स की टीम को लीड कर रहे रामकिशन ढौंडियाल ने इस बारे में बड़ी बातें बताई। उन्होंने कहा कि गांव में पर्यटन की अपार संभावनाएं मौजूद हैं। ज्यादा से ज्यादा संख्या में पर्यटक गांव में पहुंचे, इसके लिए गांव में मूलभूत सुविधाएं और होम स्टे जैसी योजनाओं पर काम किया जाएगा।

यह भी पढें - खुशखबरी..गढ़वाल और कुमाऊं में खुलेंगे PGI, सांसद बलूनी ने PM मोदी से की डिमांड
ढौंडियाल ने बताया कि हॉस्पिटिलिटी टूरिज्म के जरिए पर्यटकों को उत्तराखंड लाया जाएगा। जब पर्यटक आने लगेंगे तो गांव आबाद होने लगेगा। बीते सितंबर महीने में राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने बोर गांव को गोद लेने की घोषणा की थी। उन्होंने इस गांव का विकास करने की बात कही थी। उन्होंने कार्ययोजना तैयार की और इसके बाद हयात ग्रुप ने गांव का जायजा लिया। ईटीवी का ये वीडियो देखिए।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: Anil baluni started work in baur village

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें