पौड़ी गढ़वाल की बेटी ने देहरादून में की खुदकुशी, ब्लैकमेल कर रहा था हैवान ड्राइवर!

हाल ही में देहरादून में छात्रा की खुदकुशी के मामले में कुछ बड़े खुलासे हुए हैं। आइए इस बारे में आपको कुछ चौंका देने वाली जानकारियां देते हैं।

school van driver arrested in girl sucide case - dehradun crime, school girl sucide, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,अस्पताल,उत्तर प्रदेश,उत्तराखंड,खुदकुशी,देहरादून,प्रेमनगर, बीजेपी

पौड़ी गढ़वाल की बेटी...उस बेटी के पिता फौज में हैं। एक पिता ने अपनी बेटी बेटी को लेकर कई सपने सजाए थे लेकिन सारदे सपने एक पल में ही चकनाचूर हो गए। 14 साल की बच्ची ने ज़हर खाकर खुदकुशी की। ये मामला जितना संगीन है, उतना ही सोचने लायक भी है। आज के दौर में नई पीढ़ी के बच्चों के हाथ में मोबाइल और फेसबुक ने ऐसे जगह बना ली है कि रिश्तों की कोई कीमत नहीं रह गई। वैन चलाने वाला वो ड्राइवर भी फेसबुक चला रहा था और उस बेटी को ब्लैकमेल कर रहा था। इस मामले में प्रेमनगर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इससे वो मोबाइल को भी बरामद कर लिया गया है, जिससे वो छात्रा की फेसबुक आइडी चलाता था। मूल रूप से आरोपी उत्तर प्रदेश के बदायूं का रहने वाला है और उसका नाम है अमन श्रीवास्तव।

यह भी पढें - उत्तराखंड में दुष्कर्म पीड़ित छात्रा फिर से रो पड़ी, बड़े स्कूलों ने नहीं दिया एडमिशन!
पुलिस ने छात्रा के कमरे की तलाशी ली तो वहां से एक डारी मिली है। डायरी में फेसबुक पर आपत्तिजनक फोटो अपलोड करने की बात लिखी गई है। साथ ही ब्लैकमेल करने की बात भी लिखई गई है। छात्रा ने इसी को अपनी खुदकुशी की वजह बताई है। अमन नाम के लड़के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। लड़की के पिता फौज में हैं और वो मूलरूप से पौड़ी गढ़वाल की रहने वाली है। फिलहाल पूरा परिवार देहरादून में ही रह रहा है। ब्लैमेलिंग का ये सिलसिला अभी से नहीं बल्कि बहुत पहले से चल रहा है। कुछ दिन पहले अमन नाम का वो शख्स छात्रा को मसूरी भी ले गया था। इस टूर की फोटो उसने लड़की के पिता को भी भेजी। अमन के फेसबुक अकाउंट और वाट्सएप अकाउंट का बैकअप डाटा रिकवर किया जा रहा है, जिससे कई खुलासे हो सकते हैं।

यह भी पढें - उत्तराखंड में दर्दनाक हादसा..बीजेपी नेता की मौत, बेटी गंभीर रूप से घायल
सवाल ये है कि क्या सच में देहरादून में बेटियां सुरक्षित हैं ? आखिर ये कौन लोग हैं, जो उत्तराखंड में आकर उत्तराखंड का माहौल खराब कर रहे हैं ? एक वैन ड्राइवर की इतनी हिम्मत कैसे हुई कि वो एक छात्रा को ब्लैकमेल करने लगे। हद तो तब हो गई जब तंग आकर छात्रा ने ज़हर खा लिया। अस्पताल में इलाज के दौरान छात्रा की मौत हो गई। छात्रा द्वारा आत्महत्या के मामले में जांच शिक्षा विभाग ने भी कराई है। जांच में पता चला है कि फिलहाल छात्रा दून प्रेसीडेंसी स्कूल में कक्षा 9वीं में पढ़ रही थी। आरोपी वैन चालक निजी वाहन चलाता था। छात्रा की खुदकुशी के बाद पुलिस ने गुरुवार को ताबड़तोड़ चेकिंग की। बच्चों को जागरूक किया जा रहा है कि किसी भी तरह के उत्पीड़न के वक्त चुप न रहें। तत्काल पुलिस को इस बारे में बताएं।


Uttarakhand News: school van driver arrested in girl sucide case

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें