Connect with us
Image: record pilgrims reached in kedarnath

इतिहास में पहली बार केदारनाथ पहुंचे 7 लाख श्रद्धालु..खुशियां मनाई गई, मिठाई बांटी गई

वाह बाबा केदारनाथ के चरणों मे इस साल 7 लाख लोग शीश नवा चुके हैं। इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ तो केदारनाथ में खुशियां मनाई गईं।

जो आज तक नहीं हो पाया, वो इस बार हो गया और बाा केदारनाथ के दर पर आस्था का सैलाब उमड़ गया। जहां साल 2013 की आपदा के बाद यात्रा की उम्मीदें टूट चुकी थीं, वहीं ठीक 5 साल बाद इतिहास बदल गया। केदारनाथ के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि श्रद्धालुओं की संख्या 7 लाक के आंकड़ा को पार कर गई। इस दौरान उत्सव जैसा माहौल देखने को मिला। इस साल कपाट खुलने के दिन से ही केदारनाथ यात्रा को लेकर एक गजब की उमंग देखने को मिली थी। पहले ही दिन केदारनाथ धाम में 25 हजार से ज्यादा श्रद्धालु पहुंच गए थे। शुरू के दो महीनों में ही केदारनाथ में 5 लाख श्रद्धालु पहुंच चुके थे। 30 जून तक ये आंकड़ा 6 लाख तक पहुंच गया था। इस बीच जुलाई से 20 सितंबर तक बरसात की वजह से केदार यात्रा थम सी गई थी।

यह भी पढें - पहाड़ की मंजू भंडारी..पिता की मौत के बाद खुद चलाने लगी खच्चर, बदली समाज की सोच
जुलाई से सितंबर के दौरान सिर्फ 40 हजार श्रद्धालु ही केदारनाथ धाम पहुंचे थे लेकिन बीते 22 दिनों से ये इस यात्रा ने गति पकड़ ली। एक बार फिर से श्रद्धालुओं की संख्या ने गति पकड़ ली। हर दिन दर्शन करने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। कपाट खुलने के बाद से अब तक 700384 श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। अभी यात्रा समाप्त होने में 28 दिनों का वक्त बाकी है। यात्रियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई तो तीर्थ पुरोहितों और व्यापारियों के चेहरे भी खिले हुए हैं। आपदा से पहले भी केदारनाथ धाम में अधिकतम 5 लाख श्रद्धालु ही आ सके हैं। साल 2014 में तो ये संख्या सिर्फ 38 हजार पर सिमट गई थी। धीरे धीरे व्यवस्थाएं दुरुस्त होने लगीं तो 2017 में उम्मीदें जगी। 2017 में 4 लाख 71 हजार श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन किए।

यह भी पढें - Video: देवभूमि की उषा देवी..परंपराओं को तोड़ा, हाथ में ढोल थामा और रच दिया इतिहास
लेकिन इस साल तो श्रद्धालुओं की संख्या ने नया रिकॉर्ड ही तैयार कर दिया। यात्रियों की संख्या के सात लाख का आंकड़ा पार कर गई तो केदार में मानों उत्सव का माहौल बन गया। रुद्रप्रयाग के पुलिस अधीक्षक प्रह्लाद नारायण मीणा ने इस दौरान सभी को मिष्ठान वितरित किया। वैसे इस बात का काफी श्रेय उन जवानों को भी जाता है, जिन्होंने दिन रात एक करके केदारनाथ के नए रूप को तैयार किया। nim के कुशल कार्यकर्ताओं ने केदारनाथ धाम को नई सूरत दी। वो जबरदस्त सर्दी में काम करते रहे और बाबा केदार की सेवा करते रहे। डीएम मंगेश घिल्डियाल और कर्नल अजय कोठियाल के कुशल नेतृत्व को भुलाया नहीं जा सकता, जिन्होंने तन मन धन से बाबा केदार की सेवा की। ये ही वजह है कि आज बाब केदार के दर श्रद्धालुओं की संख्या ने नया रिकॉर्ड तैयार किया है।

related articles
More..
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
Loading...

उत्तराखंड समाचार

Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top