loksabha elections 2019 results

उत्तराखंड में लोग डेंगू से परेशान हैं, इसका इलाज भी उत्तराखंड में ही है..ये है वो पहाड़ी फल!

अगर आप डेंगू से परेशान हैं तो आपके लिए हम एक शानदार इलाज लेकर आए हैं। पहाड़ों में उगने वाले इस फल का सेवन जरूर कीजिए।

Kiwi fruit is best medicine for dengue - uttarakhand product, uttarakhand kiwi, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,उत्तराखंड,ग्लाइकेमिक इंडेक्स,पहाड़ी फल,पोटैशियम,मिनरल्स

इन दिनों लगातार डेंगू के मामले सामने आ रहे है। यह मादा एडीज मच्छर के काटने से होता है। साफ जमा पानी में पनपने वाला यह मच्छर बरसात और उसके बाद काफी सक्रिय रहता है। जैसे जैसे मौसम में ठंडक बढ़ती है इनका प्रभाव भी खत्म होते चला जाता है। डेंगू, एक प्रकार के वायरस से होने वाला रोग है। इसकी पहचान तेज बुखार, सिर दर्द, बदन दर्द, उलटी, दस्त और त्वचा पर लाल दाने होने पर की जा सकती है। डॉक्टरों के मुताबिक इसके इलाज में लापरवाही और देरी जानलेवा भी साबित हो सकती है। डेंगू होंने पर हमारे शरीर के ब्लड प्लेटलेट्स में तेजी से गिरावट आती है। इस दौरान कई लोग दवाओं के साथ पपीते के पत्ते का रस, गिलोई का रस पीने की सलाह देते है। लेकिन एक और फल है जो इस बीमारी में आपको राहत पहुंचा सकता है और उस पहाड़ी फल का नाम है कीवी। आज उत्तराखंड में युवा कीवी की जबरदस्त तरीके से पैदावार कर रहे हैं और इससे उन्हें शानदार मुनाफा मिल रही है।

यह भी पढें - देवभूमि का अमृत: चैंसू की दाल का बेमिसाल स्वाद..कैंसर, शुगर जैसी बीमारियों का इलाज!
टिहरी, चमोली, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी जैसे ऊंचे स्थानों पर कीवी की पैदावार हो रही है। कीवी में कई फलों के बराबर विटामिंस और मिनरल्स होते है। इसमें मौजूद विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट्स, फाइबर, पोटैशियम और अन्य तत्व डायबिटीज से लेकर डेंगू तक में राहत देते हैं। डेंगू के मरीज के शरीर में ब्लड प्लेटलेट्स तेजी से गिरने लगती हैं। जिन्हें ठीक करने में कीवी काफी मदद करता है। इसके अलावा यह शरीर को ताकत देने के साथ डेंगू से जल्दी रिकवर होने में भी मदद करता है। डॉक्टर भी डेंगू के मरीजों को कीवी खाने की सलाह देते हैं।आपको जानकर हैरानी होगी कि यह पहाड़ी फल ना सिर्फ डेंगू के मरीजों के लिए कारगर साबित होता है बल्कि बिमारी से निजात दिलाने के साथ यह फल आपकी खूबसूरती को भी बनाए रखने में आपकी मदद करता है। कीवी में मौजूद विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट्स त्वचा को पूरा पोषण प्रदान करने में मदद करते हैं। जिसकी वजह से स्किन लंबे समय तक जवां और हेल्दी बनी रहती है।

यह भी पढें - उत्तराखंड में खतरनाक हुआ डेंगू! दो की मौत, 368 लोग बीमार..2 जिलों में अलर्ट जारी
बता दें, एक कप कीवी में 164 मिलीग्राम विटामिन सी पाया जाता है जोकि एक संतरे से भी कई ज्यादा है। विटामिन सी आपको फ्री ऑक्सीजन रेडिकल्स से होने वाले डीएनए डैमेज से भी बचाता है। आपकी खूबसूरती बढ़ाने के साथ ही कीवी के कई और भी फायदे है। इसमें ग्लाइकेमिक इंडेक्स की मात्रा कम होती है। जिसकी वजह से खून में ग्लूकोज नहीं बढ़ता। यही वजह है कि यह डायबिटीज, दिल के रोग और वेट लॉस में काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा इसमें केले जितना ही पोटैशियम भी पाया जाता है जो ऑस्टियोपोरोसिस के मरीजों के लिए अच्छा होता है। यह हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करता है। सोचिए जरा आज के दौर में लोग जवां दिखने और स्वस्थ्य रहने के लिए क्या कुछ नहीं करते है। लेकिन यह एक फल अपने कई फायदों की वजह से ऐसे लोगों के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है।


Uttarakhand News: Kiwi fruit is best medicine for dengue

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें