पहाड़ का जेम्स बॉन्ड..जब पाकिस्तान में बाल-बाल बचे अजित डोभाल..खुद देख लीजिए

पहाड़ के अजित डोभाल 7 साल पाकिस्तान में रहे थे। लेकिन इस दौरान एक वक्त ऐसा भी आया जब वो फंस सकते थे। उन्होंने खुद वो किस्सा बताया है...देखिए

ajit doval speach about his pakistan time - ajit doval, pauri garhwal, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,अजित डोभाल,धर्म परिवर्तन,पाकिस्तानउत्तराखंड,

ये वीडियो हालांकि ज़रा पुराना है लेकिन हर उत्तराखंडी का इससे नाता है। ये हिंदुस्तान के जेम्स बॉन्ड कहे जाने अजित डोभाल का वो किस्सा है जिसे आप शायद पहली बार उनके मुंह से सुनेंगे। ये बात तो आपको पता ही होगी कि अजित डोभाल पाकिस्तान में 7 साल रहकर जासूसी कर चुके हैं। इस दौरान एक वाकया ऐसा भी था, जब डोभाल फंस सकते थे। इस किस्से को याद करके अजित डोभाल ने सभी को इस बारे में बताया है। अजित डोभाल उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल के रहने वाले हैं और इस वक्त राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पद पर हैं। अजित डोभाल उनके पाकिस्तान के दौर को याद करते हुए कह रहे हैं कि ‘’लाहौर में औलिया की एक बहुत बड़ी मज़ार है। मैं वहां मुस्लिम के भेष में था। मैं उस मज़ार से गुजर रहा था। मैं मस्जिद से वापस आया तो देखा कि एक आदमी कोने पर बैठा हुआ था। उसकी बड़ी सफेद लंबी दाड़ी और आकर्षक व्यक्तित्व था’।

यह भी पढें - उत्तराखंड में चीन की घुसपैठ..एक्शन में आए अजित डोभाल और बिपिन रावत!
अजित डोभाल आगे कहते हैं कि ‘’उस शख्स ने मुझे बुलाया। उसने मुझसे कहा कि तुम हिंदू हो ? मैंने कहा नहीं। उसने कहा कि मेरे साथ आओ। मैं उसके साथ चला गया। वो मुझे दो चार जगह ले जाकर एक छोटे से कमरे में ले गया। उसने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया और मुझसे कहा कि तुम हिंदू हो। मैंने कहा कि आप ऐसा क्यों कह रहे हैं ? उसने कहा कि आपके कान छिदे हुए हैं। उस दौरान डौभाल सकपका गए और कहा कि ‘हां ये तो है लेकिन मैंने बाद में धर्म परिवर्तन कराया’। मौलाना ने कहा कि नहीं आपने धर्म परिवर्तन नहीं करवाया। उसने कहा कि इसकी प्लास्टिक सर्जरी करवा लो क्योंकि इस तरह से घूमना ठीक नहीं है। उसने कहा कि पता है मैंने ऐसा क्यों कहा ? क्योंकि मैं भी हिंदू हूं। उसने आगे बताया कि मेरा सारा परिवार यहां पर इन लोगों ने मार दिया और मैं किसी तरह से यहां अपने दिन काट रहा हूं’।

यह भी पढें - डोभाल, रावत और धस्माना के बाद...देवभूमि के तीन सपूतों को सेना में बड़ी कमान
इसके बाद उस शख्स ने अपने कमरे की अलमारी खोली और शिवजी और मां दुर्गा की तस्वीर निकालकर कहा कि मैं इनकी पूजा करता हूं’। इसके बाद अजित डोभाल कहते हैं कि मैंने इस चीज पर ध्यान दिया और बाद में अपने कानों को काफी हद तक भरवा दिया। तब अजित डोभाल ने इसके बाद कहा कि उत्तराखंड में एक प्रथा है, जिसमें बच्चों के कान छिदवाए जाते हैं। अब तो ये प्रथा कम हो गई लेकिन मेरे टाइम पर थी। आप भी ये वीडियो देखिए।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: ajit doval speach about his pakistan time

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें