देहरादून में छात्रा से गैंगरेप..खाली हो गया GRD पब्लिक स्कूल, 52 बच्चे घर लौटे!

देहरादून में छात्रा से स्कूल में गैंगरेप के बाद अभिभावक हुए सतर्क, बच्चों को हॉस्टल से निकालकर अपने साथ ले गए, स्कूल में पसरा सन्नाटा।

dehradun grd public school case - dehradun grd public school, dehradun crime, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,विकासनगर,गैंगरेप,गर्भवती,दुष्कर्म,उत्तराखंड,

राजधानी देहरादून के विकासनगर के जीआरडी पब्लिक स्कूल में 10वीं की छात्रा के साथ हुए गैंगरेप की वारदात ने यहां पढ़ने वाले सभी बच्चों के अभिभावकों को हिला कर रख दिया है। इस वारदात के बाद अब सभी अभिभावक सतर्क हो गए और उन्होंने अपने बच्चों को स्कूल के हॉस्टल से निकाल लिया है। छात्रों के हॉस्टल छोड़कर घर चले जाने से अब स्कूल परिसर में सन्नाटा छा गया है। अभिभावकों का कहना है कि जिस तरह से 10वीं की छात्रा के साथ गैंगरेप और फिर स्कूल का शर्मनाक रवैया सामने आया है, उसने उन्हें भी परेशान और सतर्क कर दिया है। बता दें कि विकासनगर के भाऊवाला के जीआरडी पब्लिक स्कूल में 14 अगस्त को हॉस्टल में रहने वाली 10वीं की छात्रा के साथ चार छात्रों ने गैंगरेप किया। लेकिन इस वारदात के बाद स्कूल प्रबंधन ने मामले को दबाने की कोशिश की।

यह भी पढें - उत्तराखंड में छात्रा से स्कूल वैन में रेप..दर्द से तड़पती रही बच्ची, मामला दबाता रहा स्कूल!
उसके बाद अभिभावक अपने बच्चों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करना चाहते। बताया जा रहा है कि स्कूल के दोनों हॉस्टल में रह रहे सभी 52 बच्चे अपने घर चले गए हैं। जिसके बाद अब स्कूल परिसर में सन्नाटा पसर गया है। स्कूल में गैंगरेप के मामले का खुलासा तब हुआ जब छात्रा गर्भवती हो गई। बताया जा रहा है कि वारदात के बाद तबीयत खराब होने पर पीड़िता ने पूरा मामला स्कूल प्रबंधन को बताया था। लेकिन प्रबंधन ने आरोपियों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाने के बजाय पीड़िता को ही चुप रहने की धमकी दे डाली। इस वारदात के सामने आने के बाद प्रबंधन ने छात्रा का राजपुर रोड स्थित एक नर्सिंग होम में इलाज कराया तो छात्रा के गर्भवती होने का पता चला, प्रबंधन ने इसके बाद भी संगीन अपराध की जानकारी न पीड़िता के परिजनों को दी और न ही पुलिस को, बल्कि छात्रा का गर्भपात करा दिया था। स्कूल का इतनी बड़ी वारदात पर इस तरह के रवैये ने अब उसे सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है।

यह भी पढें - देवभूमि में दर्दनाक हादसा, एक ही घर से उठी पिता और बेटे की अर्थी
वही मामले की जानकारी होने पर पीड़िता के पिता ने थाना सहसपुर में तहरीर दी। पुलिस ने स्कूल के प्रधानाचार्य जितेंद्र शर्मा, निदेशक लता गुप्ता, प्रशासनिक अधिकारी दीपक, प्रशासनिक अधिकारी की पत्नी तन्नू, आया मंजू के खिलाफ सबूत छिपाने और पोक्सो अधिनियम और दुष्कर्म के आरोपित नाबालिग छात्रों के खिलाफ दुष्कर्म की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर धरपकड़ की। पुलिस ने जब छात्रों के स्कूली दस्तावेजों की जांच की तो दुष्कर्म का आरोपी एक लड़का बालिग पाया गया। इस पूरे घटनाक्रम के बाद बच्चों की सुरक्षा को लेकर सतर्क हुए अभिभावक बच्चों को हॉस्टल से निकालकर अपने साथ घर ले गए है। वही स्कूल परिसर में हुई शर्मनाक वारदात के बाद सामाजिक संगठनों का स्कूल के खिलाफ देहरादून में विरोध-प्रदर्शन जारी है। संगठन स्कूल की मान्यता रद करने की मांग पर अड़े हुए हैं। वही एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि जल्द ही इस मामले में आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल कर दिया जाएगा।


Uttarakhand News: dehradun grd public school case

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें