उत्तराखंड में घुसपैठ..4 किमी अंदर तक घुसे चीनी सैनिक, ITBP ने दिया करारा जवाब!

एक बार फिर से उत्तराखंड में चीन की सेना द्वारा घुसपैठ की कोशिश की गई है। सवाल ये है कि क्या डोकलाम के बाद उत्तराखंड जंग का मैदान बनने वाला है?

chinees army infiltration in chamoli - chamoli, uttarakhand border, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,घुसपैठ,आईटीबीपी,उत्तराखंड,स्वाति एस भदौरिया,होतीगाड़,भारतीय सीमा

जिस बात का डर था वो ही हो रहा है। डब डोकलाम में भारत ने चीन की सेना पर कूटनीतिक जीत हासिल की थी, तो चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने साफ तौर पर कहा था कि ‘अब उत्तराखंड के रास्ते भारत में घुसपैठ होगी।’ ये बात सच साबित हो रही है। एक बार फिर उत्तराखंड के चमोली जिले से लगे बाड़ाहोती में चीन की तरफ से घुसपैठ की खबर से हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि बीते महीने यानी अगस्त में चीन की ओर से घुसपैठ की गई। ये खबर सामने आई तो अब ख़ुफ़िया तंत्र भी सक्रिय हो गया है। हैरानी की बात इस खबर से होती है कि चीनी सैनिक 4 किलोमीटर तक आईटीबीपी की अग्रिम चौकी की तरफ आ रहे थे। इसी बीच आईटीबीपी के जवानों को इस बात की खबर लगी, तो उन्होंने चीन के सैनिकों को वापस खदेड़ दिया।

यह भी पढें - उत्तराखंड में चीनी घुसपैठ की खबर, 4Km अंदर तक घुसे हेलीकॉप्टर, 5 मिनट तक उड़ते रहे!
खबर है कि अकेेले अगस्त के महीने में चीन की तरफ से तीन बार घुसपैठ की गई और तीनों बार उत्तराखंड की सीमा में मौजूद ITBP के जवानों ने चीनी सैनिकों को वापसी का रास्ता दिखा दिया। 6 अगस्त, 13 अगस्त और 15 अगस्त को भारतीय सीमा में चीन के सैनिकों द्वारा घुसपैठ की गई। हर बार आईटीबीपी के जवानों ने माकूल जवाब दिया और चीनी सेना को कदम पीछे रखने पर मजबूर कर दिया। हालांकि इस बारे में चमोली जिले की डीएम स्वाति एस भदौरिया का कहना है कि इस मामले में अभी तक जिला प्रशासन को कोई खबर नहीं मिली है। इससे पहले 27 जुलाई को भी ऐसी ही खबर आई थी। जब चीनी सेना ने बाड़ाहोती क्षेत्र में घुसपैठ की थी। खबरों के मुताबिक 10 जुलाई 2018 को तुनजुन ला के पास बाइक पर सवार होकर चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की थी।

यह भी पढें - उत्तराखंड में फिर हुई चीन की घुसपैठ, वीर जवानों ने खदेड़ दिया !
27 जुलाई को चीनी सैनिक करीब 500 मीटर तक भारत की सीमा में घुस आए थे। उस दौरान भी ITBP ने विरोध किया तो चीन की सेना वापस चली गई। उससे पहले आठ जुलाई को भी ऐसी ही खबर आई थी। बताया गया था कि आधा दर्जन छोटे वाहनों में सवार होकर करीब 32 चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की। उस दौरान चीनी सैनिक होतीगाड़ इलाके में करीब चार किलोमीटर तक भारतीय सीमा में घुसपैठ कर चुके थे। उसी दिन चीन के कुछ सैनिक घोड़े पर सवार होकर भारतीय सीमा में दिखे थे। इस दौरान चीन के सैनिकों ने भारतीय चरवाहों को इशारा किया और वापस चले जाने के लिए कहा था। अब एक बार फिर से चीन की सेना द्वारा घुसपैठ की खबर सामने आ रही है। जाहिर सी बात है कि ये एक गंभीर मुद्दा है। सा हो गया है कि डोकलाम के बाद चीन की निगाहें उत्तराखंड पर हैं।


Uttarakhand News: chinees army infiltration in chamoli

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें