Connect with us
Image: mangesh ghildiyal old video from you tube

Video: मंगेश घिल्डियाल को यूं ही नहीं कहते देवभूमि का सिंघम, ज़रा ये वीडियो देखिए

Video: मंगेश घिल्डियाल को यूं ही नहीं कहते देवभूमि का सिंघम, ज़रा ये वीडियो देखिए

जो अपने कर्तव्य के प्रति सच्ची निष्ठा और सेवाभाव दिखाए, वो ही तो असली अफसर है। जो वीडियो हम आपको दिखा रहे हैं, वो थोड़ा सा पुराना जरूर है लेकिन आपके दिल में भरोसे की ताज़ा महक जगाने के लिए ये काफी है। साल 2012 का ये वीडियो उस दौर का है जब शायद मंगेश घिल्डियाल अपने ट्रेनिंग के दौर से गुजर रहे होंगे। कहते हैं कि ट्रेनिंग के दौरान बहाया हुआ पसीना ही आगे आपको सर्वश्रेष्ठ अधिकारियों की लिस्ट में खड़ा करता है। इसी ट्रेनिंग के दम पर देश के तमाम अफसर अलग अलग जिलों और जनता के लिए तैयार होते हैं। आज डीएम मंगेश रुद्रप्रयाग जिले में तैनात हैं। आप खुद ही रुद्रप्रयाग के लोगों से पूछ सकते हैं कि मंगेश घिल्डियाल उनके लिए कौन हैं।

यह भी पढें - मंगेश घिल्डियाल..कभी 5 किलोमीटर पैदल चलकर स्कूल जाते थे
प्रत्यक्ष को कभी प्रमाण की जरूरत नहीं होकी। मंगेश कड़ाके की ठंड में कपाट बंद होने के बाद भी केदारनाथ के पुनर्निमाण कार्य में लगे हुए थे। वो मुश्किल हालातों में केदारनाथ की चढ़ाई पैदल ही तय करते हैं,, आपदा के वक्त में राहत पहुंचाने के लिए वो हर वक्त तत्पर नज़र आते हैं। इन सब बातों की सिर्फ एक ही वजह है और वो है अपनी ट्रेनिंग के दौर में की गई जबरदस्त मेहनत। वीडियो में मंगेश घिल्डियाल शायद अपनी ट्रेनिंग के इस दौर को पूरा कर रहे हैं, जहां से तपकर वो एक कुशल जिलाधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं। सलाम है ऐसे अधिकारियों को, जिनके लिए सेवा और कर्तव्यनिष्ठा ही परम धर्म है।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

वीडियो : यहां जीवित हो उठता है मृत व्यक्ति - लाखामंडल उत्तराखंड
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
Loading...

उत्तराखंड समाचार

Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top