जय उत्तराखंड: मरने के बाद भी 5 लोगों को नई जिंदगी दे गया सेना का जवान

जय उत्तराखंड: मरने के बाद भी 5 लोगों को नई जिंदगी दे गया सेना का जवान

Indian army soldier of uttarakhand gave life to five people - uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand, उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज़, Indian Army, Garhwal Fifals

ये एक ऐसी पहल है, जिसके बारे में जानकर आप भारतीय सेना और भारतीय सेना के वीर जवानों पर गर्व करेंगे। देहरादून से जौलीग्रांट पर ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया और इस तरह से सेना के एक जवान ने मरने के बाद भी पांच लोगों को नई जिंदगी दे दी। दरअसल देहरादून के मिलिट्री अस्पताल में 24 अगस्त को एक सिपाही को ब्रेन डेड घोषित कर लिया गया था। ऐसे में आर्मी हॉस्पिटल दिल्ली से विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम देहरादून पहुंची। ये टीम वायुसेना के खास विमान से देहरादून पहुंची थी। ऐसा इसलिए क्योंकि दिल्ली के आर्मी हॉस्पिटल में 5 लोग जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे थे। इसलिए देहरादून से जवान के अंगों को जल्द से जल्द दिल्ली के आर्मी हॉस्पिटल पहुंचाना जरूरी था। स्थानीय पुलिस और यातायात पुलिस को भी इस बारे में खबर की गई।

यह भी पढें - पहाड़ का सपूत..मां के इलाज के लिए घर आ रहा था..तिरंगे में लिपटकर चला गया
बस फिर क्या था सभी की मदद से देहरादून के आर्मी हॉसपिटल से जौलीग्रांट तक ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया। जल्द से जल्द दिल्ली तक उन अंगों को पहुंचाया गया और हैरानी की बात ये है कि 5 लोग आज वापस अपनी जिंदगी में लौटने को तैयार हैं। मरने के बाद भी सेना का एक जवान 5 लोगों को नई जिंदगी दे गया। अब आपको ये भी बता देते हैं कि आखिर ग्रीन कॉरिडोर की जरूरत क्यों पड़ती है ? ऐसी आपात स्थिति जब किसी मानव अंग को बेहद कम वक्त में एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाना होता है। इसके लिए बहुत ही कम वक्त चाहिए। अस्पताल के कर्मचारियों और पुलिस के आपसी सहयोग से ही ऐसा संभव है। खास बात ये है कि इस पूरी प्रक्रिया में भारतीय सेना, वायु सेना, पुलिस और उत्तराखंड के स्वास्थ्य विभाग के बीच जबरदस्त तालमेल नज़र आया।

यह भी पढें - Video: गढ़वाल राइफल की आन-बान-शान पर बना बेमिसाल गीत, देखकर शेयर जरूर करें
मिलिट्री हॉस्पिटल देहरादून के कमांडेंट ब्रिगेडियर एके सूद का कहना है कि भारतीय सेना से लेकर पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के तमाम अधिकारियों के बीच जबरदस्त तालमेल दखने को मिला। जीवन रक्षा के इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया। इसके साथ ही कमांडेंट सूद ने इस ऑर्गन ट्रांसप्लांट में शामिल सभी चिकित्सकों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। कमांडेंट सूद का कहना है कि भविष्य में भी जीवन रक्षा की ये पहल जारी रहनी चाहिए। सेना की इस शानदार जीवन रक्षा पहल की हर कोई तारीफ कर रहा है। देशभर की मीडिया में इस बात की जमकर तारीफ की जा रही है। वास्तव में अगर आप जीवन में किसी के काम आ सकें तो इससे बड़ा पुण्य क्या हो सकता है ? भारतीय सेना के इस जवान को भी सलाम, जो देशसेवा और मानवसेवा की एक मिसाल पैदा कर गया...जय हिंद


Uttarakhand News: Indian army soldier of uttarakhand gave life to five people

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें