loksabha elections 2019 results

पहाड़ का लड़का 3 साल से विदेश में फंसा था..किसी ने मदद नहीं की..रोशन रतूड़ी ने बचाया

पहाड़ का लड़का 3 साल से विदेश में फंसा था..किसी ने मदद नहीं की..रोशन रतूड़ी ने बचाया

roshan raturi saved rudraprayag  - rudraprayag, roshan raturi , uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,उत्तराखंड,

कहते हैं कि अगर आपके दिल में नेक काम करने का इरादा है, तो भगवान भी आपका साथ देता है। दिल में बस वो सोच और जुनून पैदा करने की जरूरत है। आज रुद्रप्रयाग जिले के अनिल सिंह के चेहरे पर मुस्कान है। बीते तीन साल से वो मलेशिया में ग़ुरबत की जिंदगी जीने को मजबूर थे। दिल में बार बार अपने उत्तराखंड वापस जाने की हूक उठती थी लेकिन कंपनी मदद के लिए कोई तैयार नहीं था। तीन साल का वक्त बड़ा लंबा होता है। लेकिन भगवान ने अनिल की पुकार सुन ली। आखिरकार दुबई में रह रहे उत्तराखंड के समाजसेवी रोशन रतूड़ी को इस बात का पता चला। बीमार हालत में भी रोशन रतूड़ी उठ खड़े हुए और अनिल की मदद के लिए आगे आए। काम बहुत मुश्किल था लेकिन सिर्फ 24 घंटे के भीतर ही रोशन रतूड़ी ने इस परेशानी का हल निकाल लिया।

यह भी पढें - पहाड़ के जिस युवा ने हजारों लोगों की जान बचाई, वो अस्पताल में है..उसके लिए दुआ करें !
रोशन रतूड़ी ने इस बारे में अपने फेसबुक पेज पर जानकारी देते हुए कहा कि ‘’24 घंटे से भी कम समय में अनिल सिंह जी की परेशानी हल कर दी गयी. जो तीन साल से तकलीफ में मलेशिया में फंसे थे। वो उत्तराखंड के रूद्रप्रयाग जिले के हैं। वो अब अपने परिवार से जल्दी मिलेंगे। कम्पनी के मालिक ने स्वयं मुझे फ़ोन व मैसेज के माध्यम से अवगत कराया और मेरी अनिल सिंह से अभी 10 मिनट तक फ़ोन पर बात हुई। मलेशिया मे रह रहे सभी उत्तराखंडी होटलियर्स का और रवि रौतेला जी का बहुत बहुत धन्यवाद। दोस्तों बहुत खुशी हो रही है कि हमारा एक और भाई तकलीफों से निकलकर अपने वतन, अपने परिवार से मिलने जा रहा है।’’ इसके साथ ही रोशन रतूड़ी ने अनिल की एक तस्वीर भी अपने फेसबुक पेज पर साझा की है, ये भी देखिए।

यह भी पढें - https://rajyasameeksha.com/uttarakhand/5478-roshan-raturi-slammed-navjot-singh-siddhu-
इस तस्वीर में अनिल खुश दिख रहे हैं। नीली शर्ट पहने अनिल उन लोगों के साथ मौजूद हैं, जिन्होंने इस मुहिम में रोशन रतूड़ी का साथ दिया। अब तक रोशन रतूड़ी दुनियाभर के 580 लोगों को बचा चुके हैं। ये वास्तव में एक रिकॉर्ड है।

आज अनिल सिंह जी बहुत बहुत ख़ुश है । बहुत दिन का बाद सकुन के साथ ..!!!!

इंसानियत का जूनून हमेशा ज़िंदा रहना चाहिए ।

मै...

Posted by Roshan Raturi RR on Tuesday, August 28, 2018


Uttarakhand News: roshan raturi saved rudraprayag

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें