देवभूमि के नाम बड़ी उपलब्धि..अमेरिका, कनाडा के बाद देहरादून से उड़ा बायोफ्यूल प्लेन

देवभूमि के नाम बड़ी उपलब्धि..अमेरिका, कनाडा के बाद देहरादून से उड़ा बायोफ्यूल प्लेन

India first biofule flight flue from dehradun to delhi  - trivendra singh rawat, dehradun airport , uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,उत्तराखंड,

बायोफ्यूल से विमान चलाना देश में आज तक संभव ही नहीं हो पाया था। लेकिन उत्तराखंड भारत का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहां बायो फ्यूल से चलने वाले हवाई जहाज ने उड़ान भरी। इस ऐतिहासिक पल के गवाह पूरे देशभर से आए लोग बने। स्पाइस जेट के हवाई जहाज को उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने फ्लैग ऑफ किया। इसके बाद हवाई जहाज ने दिल्ली के लिए उड़ान भरी। आखिरकार ये उड़ान सफल रही और देश को पहला बायो फ्यूल से उड़ने वाला विमान मिल गया। अब जरा आपको इसकी खूबियां बता देते हैं। दरअसल प्लान ये है कि दूसरे मुल्कों पर तेल की निर्भरता को कम किया जाए और बायो फ्यूल का इस्तेमाल हो। ईंधन बचाने के लिए ये एक बेहतरीन तरीका है। ऑस्ट्रेलिया, अलास्का, न्यूयॉक और एम्सटरडम के बाद उत्तराखंड भी इस लिस्ट में शामिल हो गया है।

यह भी पढें - उत्तराखंड में रोजगार से जुड़ी अच्छी खबर, 40 हजार करोड़ का निवेश होगा..आ रहे हैं मोदी
दरअसल ये बायोफ्यूल जैट्रोफा के तेल और हाइड्रोजन के मिश्रण से तैयार किया गया है। IIP इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रेलियम में इसके लिए बकायदा एक प्लांट लगाया गया है। इस संस्थान में बायोजेट फ्यूल तैयार किया जा रहा है। अमेरिका और कनाडा जैसे देशों में चल रहे कमर्शियल विमान पहले से ही बायो फ्यूल से उड़ान भर चुके हैं। आस्ट्रेलिया के ड्रीमलाइनर बोइंग 787-9 विमान ने इसी साल लॉस एंजिलिस और मेलबर्न के बीच उड़ान भरी थी। इस उड़ान के लिए हवाई जहाज में मिश्रित ईंधन का इस्तेमाल किया गया था। अलास्का में भी कुछ इसी तरह का प्रयोग किया जा चुका है। अब इन चुनिंदा देशों की कतार में हिंदुस्तान भी शामिल हो गया है। स्पाइसजेट ने अपने 72 सीटर क्यू400 टर्बो प्रॉप हवाई जहाज के जरिए भारत के नाम ये उपलब्धि जोड़ दी।

यह भी पढें - गढ़वाल राइफल के जवानों को PM मोदी का सलाम..कहा ‘हर चुनौती पर खरे उतरे ये जांबाज’
10 अगस्त 2018 को को दिल्ली में एक कार्यक्रम हुआ था। इस दौरान पीएम मोदी ने जैव ईंधन पर राष्ट्रीय नीति जारी की थी। अगर ये प्लान सही ढंग से काम करता है तो तेल आयात के खर्च में 12 हजार करोड़ रुपये तक बचाए जा सकते हैं। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस बारे में कहा है कि बायोफ्यूल से फ्लाइट उड़ाने वाला भारत पहला विकासशील देश बन गया है। जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर बायोफ्यूल से चलने वाली फ्लाइट को फ्लैग ऑफ़ किया। इस सफल प्रयोग से भारत की अरब देशों पर तेल की निर्भरता कम हो सकेगी। साथ ही कार्बन उत्सर्जन में काफी हद तक कमी लाई जा सकेगी।

बायोफ्यूल से फ्लाइट उड़ाने वाला भारत पहला विकासशील देश बन गया है। जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर बायोफ्यूल से चलने वाली फ्लाइट को...

Posted by Trivendra Singh Rawat on Monday, August 27, 2018


Uttarakhand News: India first biofule flight flue from dehradun to delhi

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें