पूरे उत्तराखंड में फैली उत्तरकाशी गैंगरेप की आग, गुड़िया के लिए पहाड़ में कैंडल मार्च

पूरे उत्तराखंड में फैली उत्तरकाशी गैंगरेप की आग, गुड़िया के लिए पहाड़ में कैंडल मार्च

Candle march for uttarkashi girl  - Uttarkashi gudiya, rudraprayag , uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,,उत्तराखंड,

नहीं..बस अब और नहीं। नहीं सहा जाता ये सब कुछ। कोई भी आता है कि पहाड़ की बेटियों पर नज़र डालकर चला जाता है। पुलिस के हाथ खाली और इंसाफ के लिए तरसती बेटियां। आखिर कब तक ये सब चलेगा। पिछले कुछ सालों में पहाड़ में जो हो रहा है, वो दिमाग और शरीर को कंपा देता है। कभी उत्तरकाशी, कभी सतपुली, कभी पौड़ी, कभी कोटद्वार...ना जाने कितने परिवार इस आग में जल रहे हैं। उत्तरकाशी में एक मासूम सी बेटी पर दरिदों ने नजर डाली और पूरी प्लानिंग के साथ उससे गैंगरेप हुआ। 12साल की फूल सी बच्ची को चार हैवान नोंचकर खा गए और उसके बाद हत्या कर दी। इस वक्त पहाड़ उबल रहा है, आवाज उठ रही है कि फांसी से कम अब कुछ भी नहीं। इसलिए जगह-जगह कैंडल मार्च हो रहे हैं। ये दिल्ली का इंडिया गेट नहीं बल्कि पहाड़ बोल रहा है।

यह भी पढें - उत्तराखंड के 5 जिलों में इंटरनेट सेवाएं ठप, उत्तरकाशी में गैंगरेप के बाद तनाव
जो तस्वीरें हम आपको दिखा रहे हैं वो रुद्रप्रयाग जिले की हैं। उत्तरकाशी में गुड़िया के साथ हुए गैंगरेप और निर्मम हत्या से लोगों में आक्रोश बना है। उत्तरकाशी की ये आग रुद्रप्रयाग, चमोली, पौड़ी तक पहुंच चुकी है। रुद्रप्रयाग में स्थानीय लोगों ने आरोपियों को फांसी देने की मांग की है। गुड़िया को श्रद्धांजलि देने के लिए रुद्रप्रयाग शहर में रुद्रा बैंड से केदारनाथ तिराहे तक कैंडल मार्च निकालकर दो मिनट का मौन रखा गया। ये तस्वीर साफ बयां करती है कि पहाड़ उबल रहा है। बेटियों पर नज़र उठाने वालों की आंखें नौंचने का वक्त आ गया है। कुछ ऐसी सजा हो कि आने वाले वक्त में कोई पहाड़ की बेटी पर नज़र उठा कर ना देख सके। आखिर कैसे उन दरिंदों की इतनी हिम्मत हो गई कि घर से एक बेटी को अगवा कर ले गए। लाइट का कनेक्शन काटा और बेटी के साथ दुष्कर्म किया।

यह भी पढें - देवभूमि को अपवित्र करने वाले नहीं बचेंगे, उत्तरकाशी के गुड़िया के लिए एक्शन में CM
इसके बाद बड़ी बेरहमी से उस मासूम की हत्या कर दी गई। ये नहीं चलेगा...किसी भी हाल में नहीं चलेगा। खबर है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की ही पुष्टि हुई हैं। तब से लेकर अब तक ये मामला लगातार गरमा रहा है। गुस्साए लोगों ने आरोपियों की गिरफ्तारी तक शव ले जाने से इन्कार कर दिया। दरिंदगी की शिकार बच्ची अनुसूचित जाति से ताल्लुक रखती थी। किशोरी के माता-पिता दिव्यांग बताए जा रहे हैं। अब इंसाफ चाहिए और इसके लिए पहाड़ में आवाज बुलंद हो रही है। रुद्रप्रयाग की ये तस्वीरें देखिए।

उत्तरकाशी में गुड़िया के साथ हुए रेप और उसके बाद हुई निर्मम हत्या से लोगों में आक्रोश बना है। स्थानीय लोगों ने आरोपियों...

Posted by I Love My Uttrakhand Sanskriti on Sunday, August 19, 2018


Uttarakhand News: Candle march for uttarkashi girl

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें