देवभूमि की बेटी..9वीं कक्षा की छात्रा ने रूस की सबसे ऊंची चोटी फतह की..जज्बे को सलाम

देवभूमि की बेटी..9वीं कक्षा की छात्रा ने रूस की सबसे ऊंची चोटी फतह की..जज्बे को सलाम

uttarakhand student astha climb to higest mountain of russia  - astha chaturvedi, nainital, uttarakhand, latest uttarakhand news,,उत्तराखंड,, शौर्य डोभाल

उत्तराखंड की छात्राएं छोटी सी उम्र में बड़े बड़े कारनामे कर रही हैं। इन बेटियों के हौसले के तारीफ सिर्फ उत्तराखंड में ही नहीं बल्कि देश-विदेशों में भी हो रही है। ऐसी ही एक बेटी हैं आस्था चतुर्वेदी। आस्था नैनीताल के आलसेंट स्कूल में नवीं कक्षा की छात्रा हैं। 9वीं कक्षा की इस बेटी ने रूस की सबसे ऊंची चोटी माउंट एल्बरूस पर तिरंगा फहराकर देश का नाम रोशन किया है। माउंट एल्बरूस के दो शिखर हैं। इसका पश्चिमी शिखर 5,642 मीटर ऊंचा है, जबकि पूर्वी शिखर 5,621 मीटर ऊंचा है। ये एक ऐसी चोटी है, जिस पर फतह करना हर पर्वतारोही का सपना होता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि जब आस्था 7वीं कक्षा में पढ़ रहीं थीं, उस दौरान ही उन्होंने इस चोटी पर तिरंगा फहराने की ठान ली थी। लगातार दो साल की मेहनत रंग लाई और आस्था को इस साल माउंट एल्बरूस पर चढ़ाई करने का मौका मिला।

यह भी पढें - देवभूमि की बेटी को सलाम...इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ पहाड़ों को चुना और रचा इतिहास
uttarakhand student astha climb to higest mountain of russia
इस अभियान में आस्था के साथ ब्रिटेन की तीन, रूस की तीन और स्विट्जरलैंड की एक छात्रा शामिल थीं। यानी कुल मिलाकर 8 बच्चियों ने रूस की सबसे ऊंची चोटी पर फतह करने की ठानी थी। आस्था जुलाई माह के पहले हफ्ते में ही नैनीताल से रवाना हो गई थी। इसके बाद वो इस साहसिक टीम में शामिल हुईं। चढ़ाई शुरू हुई तो रास्ते में कई मुश्किलें आईं। 27 जुलाई की सुबह साढे़ आठ बजे आस्था ने माउंट एल्बरूस की चोटी पर तिरंगा और अपने स्कूल का झंडा फहराया।

यह भी पढें - पहाड़ की शेरनी…अपनी दादी को बचाने के लिए भालू से जा भिड़ी थी दीपिका
uttarakhand student astha climb to higest mountain of russia
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के पुत्र शौर्य डोभाल ने आस्था को बधाई दी है। उनका कहना है कि ‘उत्तराखंड की 9 वीं कक्षा की बेटी आस्था चतुर्वेदी ने रूस की सबसे ऊँची चोटी माउंट एल्बरूस पर चढ़कर फतह हासिल की है। इस जाबांज़ पर्वतारोही को हार्दिक शुभकामनाएं’।आस्था की इस उपलब्धि पर उनके स्कूल में जश्न का माहौल है। खासतौर पर उनके परिवार और उनके स्कूल की प्रिंसिपल किरन जरमाया को हार्दिक शुभकामनाएं, जिन्होंने इस बेटी के हौसले को डिगने नहीं दिखा।


Uttarakhand News: uttarakhand student astha climb to higest mountain of russia

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें