उत्तराखंड में भारी पड़ेंगे अगले दो दिन, मौसम विभाग की चेतावनी...8 जिले सावधान रहें

उत्तराखंड में भारी पड़ेंगे अगले दो दिन, मौसम विभाग की चेतावनी...8 जिले सावधान रहें

rain alert for uttarakhand  - chamoli, rudraprayag, pithoragarh , uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,,उत्तराखंड,

उत्तराखंड में बारिश, भूस्खलन और चेतावनियों का दौर शायद कभी खत्म नहीं हो सकता। लगातार होती बारिश से अलग अलग जिलों के लोग हलकान हो चुके हैं। पिथौरागढ़ तबाह हो गया है, तो चमोली जिले में एक एक बाद एक बादल फट रहे हैं। अल्मोड़ा में उफनते गदेरे लोगों की मुसीबत बढ़ा रहे हैं, तो उत्तरकाशी में पहाड़ों से होती पत्थरों की बारिश से लोग सहमे हुए हैं। कमोबेश ये ही हाल उत्तराखंड के लगभग हर पहाड़ी जिले का है। करें तो क्या करें, मुसीबतें खत्म नहीं हो रही। ऊपर से मौसम विभाग की चेतावनी फिर से चिंता का सबब बन सकती है। अगले दो दिन फिर से बादल गरजेंगे और फिर से लोगों का का जूना दूभर हो सकता है। मौसम विभाग ने एक बार फिर से आठ जिलों के लिए चेतावनी जारी की है। इस बारे में भी जान लीजिए।

यह भी पढें - चमोली जिले में बादल फटने से तबाही, 50 परिवार खतरे में...अगले 24 घंटे सावधान!
पहाड़ी जिले सबसे पहले सावधान रहें। उत्तरकाशी, टिहरी, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, चमोली, नैनीताल, देहरादून और बागेश्वर जिले के लोग थोड़ी सावधानी बरतें। यूं तो मुश्किलें पहले से ही आसमान ने बरपाई हुई हैं लेकिन मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दो दिन यानी 48 घंटे एक बार फिर से मुसीबत बन सकते हैं। गरज के साथ तेज बारिश की संभावनाएं हैं। उत्तरकाशी जिले में डाबरकोट के पास लगातार पहाड़ टूट रहा है और लोगों के लिए मुसीबतें खड़ी हो रही हैं। इस वक्त उत्तराखंड में यात्रा का कोई एक ही मार्ग सुरक्षित बताया जा रहा है और वो है केदारनाथ मार्ग। खैर अब केदारनाथ मार्ग पर भी मु्श्किलों का सैलाब आता दिख रहा है क्योंकि मंदाकिनी नदी उफान पर है। ऊपर से रुद्रप्रयाग जिले में अगले दो दिन जबरदस्त बारिश की संभावना है।

यह भी पढें - पहाड़ में 20 दिन से स्कूल नहीं गए छात्र, तो SDM ने बना दिया दिया नदी के ऊपर पुल
इस वक्त उत्तराखंड में 56 संपर्क मार्गों पर आवाजाही बाधित है। सबसे ज्यादा 14 सड़कें पिथौरागढ़ में बंद पड़ी हैं, तो 14 सड़कें चमोली जिले में ठप पड़ी हैं। उधर यमुनोत्री हाईवे 21 जुलाई से बंद है और हालात जैसे के तैसे ही हैं। पिथौरागढ़ में बीती रात जबरदस्त बारिश हुई और इससे थल-मुनस्यारी मार्ग रातीगाड के पास भूस्खलन से बंद हो गया। काली नदी का जल स्तर बढ़ गया है और अलर्ट जारी किया गया है। पहा़ी जिलों में ये ही हाल हर जगह है। कहीं रास्ता बंद है, कहीं भूस्खलन हो रहा है, कहीं नदियां उफान पर हैं और अब एक बार फिर से मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर दी है। इसलिए आपसे इतनी ही अपील है कि संभलकर रहिए। किसी भी मुश्किल घड़ी में तुरंत आपदा कंट्रोव रूप से संपर्क कीजिए। सावधानी ही सुरक्षा है।


Uttarakhand News: rain alert for uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें