पहाड़ में दर्दनाक हादसे से मातम...इन बच्चों की आखिरी उम्मीद मां थी, वो भी चली गई

पहाड़ में दर्दनाक हादसे से मातम...इन बच्चों की आखिरी उम्मीद मां थी, वो भी चली गई

Three kids lost their mother after dhumakot accident  - Uttarakhand news, uttarakhand accident ,उत्तराखंड,

उत्तराखंड के लिए 1 जुलाई का दिन काले दिन के रूप में याद किया जाएगा। एक भीषण हादसा जिसमें 48 जिदगियां एक पल में ही खत्म हो गई। भौन-धुमाकोट मोटर मार्ग पर रविवार को हुए बस दुर्घटना में 48 लोगों की मौत हुई थी और 12 घायल हुए थे। इस हादसे में किसी के घर का चिराग बुझा, किसी की मांग का सिंदूर हमेशा के लिए मिट गया तो कोई अनाथ हो गया। इस हादसे की दर्दनाक कहानी जानकर आपका दिल भी सिहर जाएगा। पौड़ी के अपोला की रहने वाली विधवा बबली ध्यानी के तीन अबोध बच्चों को ये हादसा अनाथ कर गया। बबली ध्यानी के सास-ससुर और पति की पहले ही मौत हो चुकी थी। अब इस हादसे के बाद बबली ने भी हमेशा के लिए अपनी आंखें मूंद ली। बबली देवी के तीन मासूम बच्चे सपना, साक्षी और शुभम हैं।

यह भी पढें - Video: पहाड़ में फिर हुआ भीषण हादसा, खाई में समाई कार..1 मौत, 5 लोगों की हालत गंभीर
इन बच्चों का अब अपना कहने के लिये इस दुनिया में कोई नहीं है। सास-ससुर और पति की मौत के बाद बबली ध्यानी के सामने तीन बच्चों की परवरिश की चुनौती थी। इस वजह से बबली ने पीआरडी ज्वाइन कर ली। रविवार सुबह बच्चों को नाश्ता कराने के बाद बबली ध्यानी ड्यूटी पर जाने के लिए दुर्भाग्य से उसी बस में सवार हुई थी। बबली को कहां पता था कि वो अपने मासूम बच्चों से आखिरी बार मुलाकात कर रही है। अब नाश्ता कराने के लिए मां नहीं और दो प्यार के बोल बोलने के लिए कोई अपना नहीं बचा। रिश्तेदार सगे सम्बन्धी भले इनको अपना भी ले पर मां का दुलार और बाप का प्यार शायद ही कोई पूरा कर सके। बबली ध्यानी भी इस बात से एकदम अनजान थीं। आप भी इन मासूम बच्चों के लिए दुआएं कीजिए। कहा भी गया है कि दुआओं में बड़ा असर होता है।

यह भी पढें - Video: कोटद्वार हादसे के दिल दहला देने वाले दो वीडियो, ये देखकर रो पड़ा पहाड़
इस बीच सोशल मीडिया पर बबली ध्यानी के मासूम बच्चों का साथ देने की मुहिम चल रही है। हादसे कब किसकी जिंदगी का काल बन जाएं, कोई नहीं जानता। इसी मुहिम से जुड़ी पोस्ट हम आपको नीचे दिखा रहे हैं। अगर आप भी इस परिवार की कोई मदद करना चाहते हैं, तो जरूर करें।


Uttarakhand News: Three kids lost their mother after dhumakot accident

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें