पौड़ी गढ़वाल से चुनाव लड़ने की तैयारी में NSA अजित डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल!

पौड़ी गढ़वाल से चुनाव लड़ने की तैयारी में NSA अजित डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल!

Shaurya dobhal may contest 2019 elections - Shaurya dobhal, BJP Uttarakhand, 2019 Elections, Uttarakhand News,उत्तराखंड,, लोकसभा चुनाव, पौड़ी गढ़वाल लोकसभा सीट, पशौर्य डोभाल, बीजेपी

2019 का बिगुल बजने वाला है। सारे महारथी तैयार हो रहे हैं और इस बार सबसे खास नजर होगी उत्तराखंड पर। ऐसा इसलिए क्य़ोंकि माना जा रहा है कि इस बार केदारनाथ से लोकसभा चुनाव का बिगुल फूंका जाएगा। खुद पीएम मोदी और अमित शाह द्वारा केदारनाथ से इस कैंपेन की शुरुआत होगी। इस बीच राजनीतिक पंडितों की सबसे पैनी नजर उत्तराखंड की पौड़ी गढ़वाल लोकसभा सीट पर है। लोकसभा चुनाव में भले ही अभी वक्त हो, लेकिन अस्त्र शस्त्रों पर धार अभी से दी जा रही है। तैयारियां शुरू हो गई हैं और इन तैयारियों के बीच सबसे बड़ी खबर ये है कि नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजरअजीत डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल अभी से तैयारियों में जुटे हैं। इसके लिए शौर्य डोभाल ने धरातल पर काम तेज कर दिया है। काम करने का तरीका भी अलहदा है।

यह भी पढें - बड़ी खबर: उत्तराखंड की सत्ता में ‘डोभाल’ की धमक, 2019 में इस सीट से लड़ सकते हैं
बीते दिनों उन्होंने उत्तराखंड में 'बेमिसाल उत्तराखंड और बुलंद गढ़वाल' कैंपेन की शुरुआत की थी। इस कैंपेन के जरिए वे उत्तराखंड में स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार के मुद्दे पर ग्राउंड लेवल पर काम कर रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि वे पौड़ी संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। हाल ही में शौर्य डोभाल ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए बताया था कि "मैं नहीं जानता कि 2019 लोकसभा चुनाव लडूंगा या नहीं, लेकिन राजनीति में उतर कर ही इस कैंपेन का असली मकसद पूरा किया जा सकता है।" अब जरा शौर्य की राजनीति के दांव पेंच भी जानिए। शौर्य डोभाल दिसंबर 2017 में बीजेपी से जुड़े। उस दौरान शौर्य को उत्तराखंड बीजेपी कार्यकारिणी समिति का सदस्य बनाया गया. यहां तक कि शौर्य ने खुद को अपने फेसबुक पेज पर बीजेपी नेता बताया है।

यह भी पढें - बड़ी खबर: उत्तराखंड की सत्ता में ‘डोभाल’ की धमक, 2019 में इस सीट से लड़ सकते हैं
शौर्य डोभाल पौड़ी गढ़वाल के घिडी गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने 'बेमिसाल उत्तराखंड और बुलंद गढ़वाल' कैंपेन शुरू किया है। इसे लेकर उनका कहना है कि अगर कोई राजनीतिक पहलू सामने आता है तो अच्छी बात है, अगर नहीं भी आता है तो भी ये कैंपेन बेहद महत्वपूर्ण है। दरअसल शौर्य डोभाल 'बेमिसाल उत्तराखंड और बुलंद गढ़वाल' के जरिए युवाओं को रोजगार से जोड़ने की बात कर रहे हैं। इसे लेकर शौर्य का कहना है कि ‘’हमारा मकसद प्रदेश में व्यापक विकास, मसलन स्वास्थ्य, कृषि, मशरूम फार्मिंग, पर्यटन, संस्कृति, सांस्कृतिक विरासत, रोजगार के अवसर, शिक्षा, बाल सुधार जैसे के क्षेत्र में विकास करना है। हालांकि उन्होंने, इस बात से भी इंकार नहीं किया कि इसके लिए राजनीति में एंट्री करना बहुत जरूरी है। कुल मिलाकर तैयार रहिए 2019 के चुनावी समर के लिए, जहां पौड़ी गढ़वाल लोकसभा सीट पर सभी की नज़रें होंगी।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: Shaurya dobhal may contest 2019 elections

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें