कोटद्वार हादसे में अब तक 50 मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख...गुनहगारों को सजा कब ?

कोटद्वार हादसे में अब तक 50 मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख...गुनहगारों को सजा कब ?

Pm modi condolence for kotdwar accident - Uttarakhand news, kotdwar accident ,उत्तराखंड,

28 सीटर बस में आखिर 57 लोगों को क्यों भरा गया था ? आप आज उत्तराखंड में कहीं भी चले जाइए, एक नजारा आपको आम तौर पर दिखेगा। बस में खचाखच सवारियां भरना ड्राइवर और कंडक्टर्स का काम हो गया है। ज्यादा मुनाफे के लिए लोगों की जान से खइलवाड़ अब आम बात हो गई है। कोटद्वार के हादसे में भी तो कुछ ऐसा ही हुआ। 2जिस बस में 28 लोगों की जगह थी, उस बस में 57 लोग भरे हुए थे। अब आप ही बताइए कि हादसा नहीं होगा तो आखिर क्या होगा ? सवाल ये भी है कि आखिर इस हादसे के गुनहगारों को सजा कब मिलेगी। 258 सीटर बस में मरने वालों की संख्या दोगुने पर पहुंच गई है। इससे ही आप अंदाजा लगा सकते है कि प्रशासन किस कदर सोया हुआ है। क्या इस रूट पर कोई चेक पोस्ट नही था ? अगर था तो फिर ऐसा होने ही क्यों दिया गया ?

यह भी पढें - कोटद्वार हादसे में 50 लोगों की मौत...सबसे दर्दनाक एक्सीडेंट
क्या बस डिपो वालों को इस बात का अंदाजा नहीं था कि ये कितना बड़ा हादसा हो सकता है ? कैसे इतने अधिक यात्री एक ही बस में सफर कर रहे थे ? आखिर वो कौन था, जिसके द्वारा इतने सारे यात्रियों की टिकट पास की गई ? 50 लोगों की लाशें बिछ गईं। ऐसा मंजर आज तक देखने को नहीं मिला। उधर पीएम मोदी ने इस हादसे पर गहरा दुख जताया है। लेकिन सिर्फ दुख जताने से नहीं बल्कि ऐसे गुनहगारों पर भी सख्त कार्रवाई करनी होगी। सरकार को ठोस कदम उठाने ही होंगे। गलती जिनकी भी हो कड़ी कार्रवाई हो। हाल ही में पहाड़ों में दुर्घटनाओं की संख्या में इजाफा हो गया है। जहां भी देखिए वहां हाहाकार मच रहा है। इसलिए अब वक्त आ गया है कि ऐसे लोगों पर भी कार्रवाई हो, जो लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: Pm modi condolence for kotdwar accident

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें