उत्तराखंड के लिए काला दिन, कोटद्वार हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 45 हुई

उत्तराखंड के लिए काला दिन, कोटद्वार हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 45 हुई

Kotdwar accident 45 people died - Uttarakhand news, kotdwar accident ,उत्तराखंड,

किसी ने सोचा भी नहीं था कि ऐसा होगा। किसी के घर का चिराग चला गया, किसी ने अपना पति खोया, किसी ने अपना परिवार खो दिया, तो किसी के लिए पूरा परिवार ही खत्म हो गया। कोटद्वार के धुमाकोट में पिपली-भौन मोटर मार्ग पर बस खाई में गिरी और अब तक 45 लोगों की मौत हो चुकी है। ये जानकारी जिला आपदा कंट्रोल रूम द्वारा दी गई है। राहत और बचाव के लिए एसडीआरएफ की टीम भी रवाना हो गई है। आज सुबह आठ बजकर 45 मिनट पर ये हादसा हुआ। कोटद्वार के पिपली-भौन मोटर मार्ग पर UK 12C 0159 नंबर बस खाई में गिर गई। बस भौन से रामनगर जा रही थी। ग्वीन पुल के पास ये बस अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई।सबसे ज्यादा हैरानी की बात तो ये है कि 28 सीटर इस बस में 50 से ज्यादा लोगों को भर कर ले जाया जा रहा था।

यह भी पढें - उत्तराखंड में आज तक का सबसे दर्दनाक हादसा
हादसे में मरने वाले लोग रामनगर, पौड़ी और दिल्ली के बताए जा रहे हैं। इस हादसे में करीब 8 लोगों के घायल होने की खबर मिल रही है। ये बस सड़क से करीब 100 मीटर नीचे गदेरे में गिरी है। मौके पर लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। एसडीआरएफ की टीम हेलीकॉप्टर के साथ मौके के लिए रवाना हो चुकी है। घायल लोगों को रामनगर और कोटद्वार ले जाया जा रहा है। घायलों को रेस्क्यू के लिए देहरादून के सहस्रधारा हेलीपेड से हेलीकॉप्टर भेजा गया है। एसडीआरएफ के अधिकारियों का कहना है कि घायलों को देहरादून लाया जाएगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस हादसे पर संवेदना व्यक्त की है। तत्काल राहत बचाव कार्य के आदेश दिए हैं। वहीं गढ़वाल कमिश्नर दिलीप जावलकर का कहना है कि 20 शव निकाले जा चुके हैं और 12 घायलों को अस्पताल भेजा गया है।


Uttarakhand News: Kotdwar accident 45 people died

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें