उत्तराखंड की मुख्यमंत्री बनी सृष्टि गोस्वामी, प्रियंका नौटियाल बनीं बाल विकास मंत्री!

उत्तराखंड की मुख्यमंत्री बनी सृष्टि गोस्वामी, प्रियंका नौटियाल बनीं बाल विकास मंत्री!

Bal vidhan sabha uttarakhand  - Uttarakhand news, uttarakhand assembly ,उत्तराखंड,

संसद देश का शासन चलाने वाली सर्वोच्च संस्था है ठीक उसी प्रकार राज्य में शासन चलाने वाली सर्वोच्च संस्था असेम्बली या विधायिका है। भारत के संविधान के अनुच्छेद 171 में विधान सभाओं की संरचना का उल्लेख किया गया है। लेकिन अब उत्तराखंड में एक जबरदस्त पहल हो गई है। उत्तराखंड के लिए गर्व की बात ये है कि बच्चे आज से ही हमारे लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए बाल विधान सभा के माध्यम से सभी को प्रेरित करने का काम कर रहे हैं। उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण आयोग, प्लान इंडिया और भुवनेश्वरी महिला आश्रम द्वारा ये पहल की गई। उत्तराखंड में बाल विधानसभा का गठन कर दिया गया है। तीन साल तक चलने वाली बाल विधानसभा का गठन विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की मौजूदगी में संपन्न हुआ। इसमें सृष्टि गोस्वामी को मुख्यमंत्री चुना गया।

यह भी पढें - पहाड़ का लाल...मरणोपरांत शौर्य चक्र मिला था, पत्नी खा रही है धक्के
इसके अलावा नमन जोशी को विधानसभा अध्यक्ष नियुक्त किया गया। और आसिफ हसन को नेता प्रतिपक्ष चुना गया है। वहीं चार बाल विधायकों को कैबिनेट मिनिस्टर बनाया गया। कुमकुम पंत को बाल गृह मंत्री नियुक्त किया गया। वहीं प्रियंका नौटियाल को बाल महिला एवं बाल विकास मंत्री नियुक्त किया गया। नितिन मेहता को बाल शिक्षा, खेलकूद एवं युवा कल्याण मंत्री तो भरत सिंह को बाल आपदा प्रबंधन एवं समाज कल्याण मंत्री बनाया गया। अब खास बात ये है कि आखिर इस बाल विधानसभा को बनाने का लक्ष्य क्या है ? ये भी जान लीजिए। उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि बाल विधानसभा के माध्यम से प्रदेश के बच्चों की समस्याओं को दूर करने के लिए काम किया जाएगा। बाल विधानभा के और भी कुछ बड़े काम होंगे।

यह भी पढें - उत्तराखंडियों से सीखिए देशभक्ति क्या होती है
विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि बाल विधानसभा के माध्यम से उत्तराखंड के बच्चों को लोकतंत्र की जानकारी होगी और वो एक महत्वपूर्ण मतदाता होने के साथ ही जागरूक नागरिक बन सकेंगे। बाल मुख्यमंत्री सृष्टि गोस्वामी ने कहा कि उत्तराखंड के बच्चों की समस्याओं को दूर करने के लिए काम होगा। आज के दौर में बच्चों के अधिकारों को ताक पर रखा जा रहा है। इसलिए इसके खिलाफ लड़ा जाएगा। सृष्टि ने बताया कि उत्तराखंड में रोजगार बढ़ाने के लिए शिक्षा पर खास नजर रहेगी। बच्चों को नशे की लत से दूर किया जाएगा। वहीं बाल नेता प्रतिपक्ष आसिफ हसन ने कहा कि सरकार की हर गतिविधि पर हमारी नजर रहेगी। वास्तव में ये एक शानदार पहल है और इस तरह से बच्चे राजनीति की मुख्यधारा से जुड़ सकेंगे।


Uttarakhand News: Bal vidhan sabha uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें