Video: सतपुली का लड़का...कभी एक रोल के लिए भटकता था, आज बॉलीवुड का स्टार है

Video: सतपुली का लड़का...कभी एक रोल के लिए भटकता था, आज बॉलीवुड का स्टार है

Story of deepak dobriyal  - Uttarakhand news, deepak dobriyal, bollywood star ,उत्तराखंड,

पहले इस पहाड़ी का जलवा देख लीजिए...साल 2007 में ओमकारा फिल्म के लिये फिल्म फेयर अवार्ड जीता। साल 2010 में गुलाल फिल्म में बेस्ट नेगेटिव रोल के लिए प्रोड्यूसर गिल्ड फिल्म अवॉर्ड के लिए नॉमिनेशन हुआ। साल 2012 में तनु वेड्स मनु के लिए बेस्ट कॉमेडी एक्टर के लिए प्रोड्यूसर गिल्ड फिल्म अवॉर्ड मिला। साल 2016 में तनु वेड्स मनु रिटर्न्स के लिए बिग स्टार इंटरटेनमेंट अवॉर्ड, इंटरनेशनल इंडियन फिल्म एकेडमी अवॉर्ड, प्रोड्यूसर गिल्ड फिल्म अवॉर्ड, स्टार स्क्रीन अवॉर्ड और टाइम्स ऑफ इंडिया फिल्म अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। लेकिन जब 2018 में फिल्म हिंदी मीडियम के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का एवॉर्ड नहीं मिला तो कह दिया कि अब ऐसे अवॉर्ड समारोह में जाना ही नहीं। ऐसे हैं उत्तराखंड के सतपुली के कबरा गांव के दीपक डोबरियाल

यह भी पढें - माणा गांव का लड़का बना बॉलीवुड स्टार्स की पसंद
तनु वेड्स मनु फिल्म के दो पार्ट देश ने देखे। इस अवॉर्ड विनिंग फिल्म में ज्यादातर लोगों को दो ही रोल याद हैं। पहले तो पप्पी भाई और दूसरा कंगना रानौत की दमदार एक्टिंग। दीपक डोबरियाल उन एक्टर्स में से हैं जो किरदार में समा जाते हैं। लेकिन दीपक कभी भी एक्टर बनना नहीं चाहते थे। पिता तो दीपक को बस सरकारी नौकरी तक देखना चाहते थे लेकिन खुले परिंदों को उड़ने से आज तक रोका किसने है ? दिल्ली में रहते हुए मंडी हाउस में अपना पहला प्ले किया, जिसका नाम था बकरी। इसी दौरान एक प्ले के बीच फ़ेमस थियेटर आर्टिस्ट अरविंद गौर की नज़र जीपक पर पड़ी थी। एक कलाकार को पहचान लिया गया और अस्मिता थिएटर ज्वॉइन करने के लिए कहा गया। करीब 7 साल तक दीपक ने 'रक्त कल्य़ाण', 'तुगलक' और 'अंधा युग' जैसे कई प्ले किये। जब थिएटर की दुनिया से बॉलीवुड की दुनिया में कदम रखा तो कड़ा संघर्ष करना पड़ा।

यह भी पढें - उत्तराखंड को ऐसे याद करते हैं दीपक डोबरियाल
कई प्रोड्क्शन हाउस और डायरेक्टर्स के ऑफ़िसों के चक्कर काटे। करीब 3 साल तक तो अपनी तस्वीरें लेकर रामगोपाल वर्मा के प्रोडक्शन हाउस के चक्कर काटते रहे। कड़ी मशक्कत के बाद उन्हें 'मकबूल' में इरफ़ान खान के दोस्त का किरदार मिला। बस फिर क्या था...यहां से दीपक के सपनों को पंख लग गए। ओमकारा ,गुलाल, शौर्य, तनु वेड्स मनु, ब्लू एंब्रेला, तनु वेड्स मनु रिटर्न्स, प्रेम रतन धन पायो, चल भाग, लखनऊ सेंट्रल, हिंदी मीडियम और कलाकांडी जैसी फिल्मों ने दीपक डोबरियाल को बॉलीवुड का पहाड़ी स्टार बना दिया। उनका ये रोल तो आप कभी नहीं भूलेंगे...देखिए ये वीडियो

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: Story of deepak dobriyal

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें