पहाड़ के गांव का बेटा..बचपन से था देशसेवा का जुनून, अब आर्मी अफसर बनकर दिखाया

पहाड़ के गांव का बेटा..बचपन से था देशसेवा का जुनून, अब आर्मी अफसर बनकर दिखाया

Chetan bhauryal become army officer  - Uttarakhand news, ima, dehradun ,उत्तराखंड,

इंडियन मिलिट्री एकेडमी में इस बार पासिंग आउट परेड हुई तो उत्तराखंड के वीरों ने भी हुंकार भरी। हर बार उत्तराखंड के युवाओं ने साबित कर दिखाया है कि देशसेवा के मामले में उनसे बेहतर जज्बे वाला कोई इंसान नहीं। इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ। उत्तराखंड के कपकोट ब्लॉक के जलमानी गांव रहने वाले चेतन भोर्याल के दिल में बचपन से ही देशसेवा का जुनून था। चेतन भोर्याल ने खुद को बचपन से ही आर्मी के लिए तैयार कर दिया था। अब चेतन देहरादून के आईएमए से पासआउट हो गए हैं। आपको ये जानकर गर्व होगा कि चेतन भोर्याल की पहली पोस्टिंग जम्मू-कश्मीर के अखनूर सेक्टर में होगी। चेतन भोर्याल अब बतौर आर्मी अफसर 13 पंजाब बटालियन में शामिल हो गए हैं। चेतन मूलरूप से कपकोट ब्लॉक के जलमानी गांव के रहने वाले हैं।

यह भी पढें - गबर सिंह नेगी..चीते सी चाल, बाज की नज़र और अचूक निशाने वाला जांबाज
वर्तमान में चेतन का परिवार बागेश्वर शहर में ही रहता है। उबचपन से दिल में देशसेवा का जुनून था और इसी जुनून की बदौलत 2007 में उसका चयन सैनिक स्कूल घोड़ाखाल में हुआ। घोड़खाल में कक्षा 6 से 12वीं तक चेतन ने पढ़ाई की। इसके बाद उन्होंने पहले ही प्रयास में एनडीए की परीक्षा पास कर दी। नेशनल डिफेंस एकेडमी से 3 साल पूरे करने के बाद उनकी ट्रेनिंग इंडिन मिलिट्री एकेडमी देहरादून में हुई। अब जाकर चेतन भोर्याल का सपना पूरा हो गया है। चेतन भोर्याल के पिता भगत सिंह भौर्याल जिलाधिकारी कार्यालय में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी हैं। इसके अलावा उनकी मां गीता भौर्याल गृहिणी है। चेतन का कहना है कि आज माता-पिता के आशीर्वाद की वजह से वो अपने मुकाम को हासिल कर पाए हैं। माता-पिता ने मुझे इतना काबिल बना लिया है कि मैं देश की सेवा कर सकूंगा। पहाड़ के सपूत को हार्दिक शुभकामनाएं।


Uttarakhand News: Chetan bhauryal become army officer

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें