देहरादून के इस विश्वविद्यालय ने 1 महीने में बनाये 3 वर्ल्ड रिकॉर्ड

देहरादून के इस विश्वविद्यालय ने 1 महीने में बनाये 3 वर्ल्ड रिकॉर्ड

Graphic Era creates three world records in 1 month - Graphic Era, World Record, Uttarakhand News,उत्तराखंड,

उत्तराखंड के सबसे बड़े विश्वविद्यालयों में से एक ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी के होनहार छात्रों ने पिछले एक ही महीने में 3 वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिये हैं। 31 मई को ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राओं ने तीसरी बड़ी उपलब्धि प्राप्त करते हुए रद्दी कागज से विशाल प्रतिमाएं बनाकर मेक्सिको के पुराने वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड दिया है। ग्राफिक एरा के छात्र युवराज जोशी और यथार्थ जोशी ने पेपर मैशे यानि कि कागज की रद्दी से 33 दिन में 4 विशाल प्रतिमाएं बनाईं हैं। इसमें एक प्रतिमा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की है, दूसरी लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की है। इसके अलावा छात्रों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस और मिसाइल मैन डॉ. अब्दुल कलाम की प्रतिमाएं बनायीं है। ग्राफिक एरा के विद्यार्थियों को इन प्रतिमाओं को बनाने में करीब 750 किलोग्राम रद्दी कागज के साथ 85 लीटर एडिह्सिव का इस्तेमाल किया गया है। सबसे बड़ी खासियत ये है कि प्रतिमाएं केवल कागज से बनाई गई हैं, इनको बनाने में किसी भी धातु, तार, लकड़ी के ढांचे का उपयोग नहीं किया गया है।
यह भी पढें - पौड़ी के रिटायर फौजी का बेटा, हर मुश्किल से लड़ा, अब IIT दिल्ली में हुआ सलेक्शन

graphic-era-dehradun-world-record
इससे पहले ग्राफिक एरा के देहरादून कैंपस में 2 मई को दो वर्ल्ड रिकॉर्ड बने थे। ये दोनों नये विश्व कीर्तिमान खाने और स्वाद को लेकर बने थे। इनमें से एक वर्ल्ड रिकॉर्ड को बनाने के लिए छात्रो ने 50 प्रकार के 1500 पास्ता एक घंटा 43 मिनट में बनाकर पहला वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया था। 2 मई को ही कुछ ही देर बाद ग्राफिक एरा के छात्रों ने 58 मिनट 46 सेकेंड्स में 250 तरह के 1000 मॉकटेल बनाकर एक और वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया था। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल और उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी भी उपस्थित थे।
यह भी पढें - चमोली के पोखनी गांव की बेटी ने बनाया ऐसा इको मॉडल, जो देश में रोकेगा फर्जी मतदान

kamal-ghansala-graphic-era
गुरुवार को इन प्रतिमाओं का ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में लोकार्पण किया गया। अध्यक्ष डॉ. कमल घनशाला ने छात्रों को शाबाशी देते हुए इसे ऐतिहासिक क्षण बताया और कहा कि छात्रों ने एक बार फिर पूरी दुनिया में अपने संस्थान और उत्तराखंड का नाम रोशन किया है।


Uttarakhand News: Graphic Era creates three world records in 1 month

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें