पहाड़ की बेटी को दहेज के दानवों ने मार डाला, पहले तीसरी मंजिल से फेंका..फिर जिंदा जलाया

उत्तराखंड की बेटी के साथ जो कुछ भी हुआ, वो किसी दर्दनाक दास्तान से कम नहीं है। आज भी परिवार इंसाफ की आस लगाए बैठा है।

Bageshwar girl killed for dowry in up  - Uttarakhand news, bageshwar,उत्तराखंड,

कितने सपने सजाकर कोई पिता अपनी बेटी को दूसरे परिवार में भेजता है। नई जगह के सपने, नए परिवार के सपने, सास-ससुर के आशीर्वाद के सपने, ना जाने ऐसे कितने सपने होते हैं, जो एक पिता की आंखों में अपनी बेटी के लिए पलते हैं। लेकिन इन सपनों का तब क्या हश्र होता है, जब पिता को पता चलता है कि बेटी के ससुराल वाले ही चंद पैसों के लिए कातिल बन जाएं। खबर की शुरूआत मई 2018 से होती है, जब पता चला कि बागेश्वर की बेटी की दहेज के दानवों ने हत्या कर दी। परिवार अब तक इस आग में जल रहा है। बागेश्वर के भोबना कठपुडिय़ा गांव के रहने वाले पूर्णानंद तिवारी की बेटी पुष्पा की शादी उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के मीरपुर में रहने वाले त्रिभुवन कांडपाल से हुई थी। साल 2011 में त्रिभुवन ने खुद को शिक्षक बताकर ये शादी की थी।

यह भी पढें - पहाड़ से 100 फीट नीचे नदी में गिरी ऑल्टो कार, शिक्षक समेत दो लोगों की मौत
त्रिभुवन की बेरोजगारी की खबर जब सामने आई, तो पुष्पा के परिवार वालों ने शादी तोड़ी नहीं बल्कि त्रिभुवन को खर्चा देने लगे थे। अब तो दहेज की मांग उठने लगी, पुष्पा पर कभी लात बरसाई जाने लगी, कभी मुक्कों से उसे मारा जाने लगा। ना जाने कितने दर्द उस बेटी ने सहे और डर के मारे कुछ बोल नहीं पाई। और एक दिन ऐसा भी आया कि ससुराल वाले नरक पिशाच का रूप धर बैठे। आरोप है कि ससुराल वालों ने पहले पुष्पा को तीसरी मंजिल से नीचे फेंका। इसके बाद भी उनका मन नहीं भरा, तो उन्होंने पुष्पा शरीर पर कैरोसीन छिड़क दिया। मदद के कराहती पुष्पा को बचाने वाला कोई नहीं था। आंखों के आगे मौत का नंगा नाच चल रहा था। बेरहमों को एक भी दया नहीं आई और पुष्पा के शरीर पर आग लगा दी। इसी के साथ उत्तराखंड की एक और बेटी दहेज की बलि चढ़ गई।

यह भी पढें - वाह उत्तराखंड: पहाड़ी युवा को आरिफ ख़ान ने बचाया, रोज़ा तोड़कर किया बेमिसाल काम
आरोप है कि इसके बाद त्रिभुवन ने पुष्पा के पिता को फोन किया। वो बोला की पुष्पा ने खुद को आग लगा दी है। पिता के सिर पर मानों सात आसमान गिर गए। घटना के बाद ससुराल पक्ष के लोग भाग गए। आस पास के लोगों ने इस बात की खबर पुलिस को दी। पुष्पा के पिता और परिवार ने ससुराल पक्ष के सात लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। फिलहाल पति पुलिस की हिरासत में हैं। पुष्पा के पिता का कहना है कि सिर्फ पति नहीं वो सारे दरिदें सलाखों के पीछे होने चाहिए। उस वक्त एएसपी अपर्णा गुप्ता ने बताया था कि सभी आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा। पिता की आंखों में आंसू हैं और उनका कहना है कि पुष्पा के ससुरालियों को बीच सड़क फांसी दी जानी चाहिए। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से भी खुलासा हो गया है कि पुष्पा की मौत जलने से हुई है।


Uttarakhand News: Bageshwar girl killed for dowry in up

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें