uttarakhand investers summit dehradun 2018 latest news

गर्व है: उत्तराखंड के सांसद ने अपना पहला वेतन अनाथालय को दान किया

गर्व है: उत्तराखंड के सांसद ने अपना पहला वेतन अनाथालय को दान किया

Anil baluni donate his first salary to orphanage  - उत्तराखंड न्यूज, uttarakhand news, anil baluni,

उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी के बारे में कौन नहीं जानता। हाल ही में वो तब चर्चाओं में आए थे, जब उन्होंने वाई कैटेगरी की सुरक्षा के लिए भी मना कर दिया था। अब एक बार फिर से वो चर्चाओं में हैं। वजह है उनका एक नेक काम, जो हर किसी के लिए प्रेरणादायक साबित हो सकता है। अनिल बलूनी ने सांसद के रूप में अपने पहले वेतन से एक लाख रुपये का चेक अनाथालय को दान किया है। देहरादून के राजकीय अनाथालय के लिए अनिल बलूनी ने ये चेक मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को सौंपा। दरअसल शुक्रवार को सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सांसद अनिल बलूनी से दिल्ली में भेंट की थी। इस दौरान बलूनी ने ये चेक उन्हें सौंपा। इस काम के लिए अनिल बलूनी की तारीफ देशभर में हो रही है। अनिल बलूनी ने ऐसा क्यों किया, जरा ये भी जान लीजिए।

यह भी पढें - पौड़ी गढ़वाल का सपूत, संसद में उठाएगा उत्तराखंड की आवाज
यह भी पढें - त्रिवेंद्र सरकार की बड़ी कार्रवाई, अब तक 20 गिरफ्तार, हरीश रावत तक पहुंची जांच की आंच!
दरअसल अनिल बलूनी ने शपथ ग्रहण के बाद ही ये घोषणा कर थी कि बतौर राज्यसभा सांसद अपना पहला वेतन वो देहरादून के राजकीय अनाथालय को देंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि वो भविष्य में भी इस अनाथालय के लिए हरसंभव सहयोग देते रहेंगे। आपको याद होगा कि इससे पहले सासंद अनिल बलूनी ने वाई कैटेगरी की सुरक्षा को ना कहते हुए मिसाल पेश की थी। उस वक्त उन्होंने सरकार को पत्र लिखा था कि ‘’प्रदेश के भ्रमण के लिए इस सुरक्षा की जरूरत नहीं है’’। पौड़ी गढ़वाल जिले के नकोट गांव के रहने वाले अनिल बलूनी जब दिल्ली में पत्रकारिता कर रहे थे, तो इसी दौरान वो आरएसएस के करीब आए थे। धीरे-धीरे वो संघ में रचते और बसते चले गए। इस बीच वो बीजेपी के कद्दावर नेता सुरेंद्र सिंह भंडारी के संपर्क में आए थे। यहीं से ही उनका राजनीतिक सफर शुरू हो गया था।


Uttarakhand News: Anil baluni donate his first salary to orphanage

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें