टिहरी की डी.एम. के इस आईडिया को पूरे देश में लागू करेगा केंद्र, CM त्रिवेन्द्र कर चुके हैं सराहना

टिहरी की डी.एम. के इस आईडिया को पूरे देश में लागू करेगा केंद्र, CM त्रिवेन्द्र कर चुके हैं सराहना

DM Sonika is praised by CM for 555 tollfree - DM Tehri Sonika, Uttarakhand News,उत्तराखंड,

टिहरी की जिलाधिकारी सोनिका अपनी चतुराई और बुद्धिमता भरे जनोपयोगी फैसलों के लिए मशहूर हैं। सोनिका की टिहरी गढ़वाल के दूरदराज के गांवों तक स्वास्थ्य सेवा पहुंचाने की 555 टेलीमेडिसिन सेवा की सराहना केंद्र ने भी कर दी है। इसके साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए शुरू की गई इस सेवा को अब केंद्र और राज्य दोनों ही सरकारें अपना कर लागू करना चाहती हैं। दरअसल टिहरी गढ़वाल की DM सोनिका के प्रयासों के बाद टिहरी जिला पूरे देश में मेडिकल सुविधाओं के लिए टोल-फ्री नंबर जारी करने वाला पहला जिला बन गया था। नयी टिहरी के बौराड़ी में टेलीमेडिसिन सेवा के लिए कॉल सेंटर अस्पताल चलाया जा रहा है। इस कॉल सेंटर के माध्यम से सुदूरवर्ती गांवों के लोग घर बैठे ही दवाइयां मंगवा सकते हैं साथ ही ईलाज के बारे में फ्री में जानकारी ले सकते हैं। इसके लिए 180011804112 टोल फ्री नंबर भी उपलब्ध कराया गया है।

यह भी पढें - पहाड़ के हवलदार चाचा को जनरल बिपिन रावत का सलाम, वीरान होने से बचा लिया एक गाँव
यह भी पढें - पहाड़ की बेटी को मिला नेशनल अवॉर्ड, फिल्म डायरेक्शन के क्षेत्र में रचा इतिहास
555 स्वास्थ्य सलाह सेवा केन्द्र का प्रयोजन और कार्य दूरदराज के लोगों को बीमारी के बारे में जानकारी देना और उन तक सही दवाई पहुंचाना है। कोई भी व्यक्ति किसी बीमारी के बारे में 555 टोल फ्री नम्बर या फिर 180011804112 पर कॉल करके जानकारी ले सकता है। कॉल सेन्टर में बैठे फार्मेसिस्ट सीधे सम्बंधित डॉक्टर से मरीज की बात करवाकर बीमारी के बारे में बात करते हैं और फिर सलाह और दवाइयां देते हैं। टिहरी की जिलाधिकारी सोनिका अपने 555 टेलीमेडिसिन सेवा के गजब के आईडिया से फिर चर्चाओं में हैं। डीएम सोनिका का कहना है कि जिसके पास कोई भी दवाई जो उनके किसी काम की नहीं है और अभी expired नहीं हुई है, वे उसे ड्रॉप बाक्स में डाल सकते हैं। जिससे उसका फिर से उपयोग हो सके। जिलाधिकारी सोनिका के मुताबिक 555 टेलीमेडिसिन सेवा को तीन पार्ट में बनाया गया है। जिससे सबका ईलाज आसानी से किया जाता है। दूर दराज में बैठे मरीज कॉल सेंटर के माध्यम से हमसे सम्पर्क कर सकता है। उन्होंने कहा कि 9 महीने में पहले शुरू किये गये कॉल सेंटर में अब तक लगभग पांच हजार कॉल आ चुकी हैं। साथ ही एक हजार से अधिक प्रसव महिलाओं को कॉल करके उनकी काउन्सलिंग की है।

यह भी पढें - पहाड़ की बेटी ने लिखी कामयाबी की बुलंद कहानी, छोटे से काम को बेमिसाल बना दिया
यह भी पढें - कभी 5 किमी पैदल चलकर स्कूल जाते थे मंगेश घिल्डियाल, विरासत में मिला संघर्ष और त्याग
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पहले ही टिहरी जिलाधिकारी की इस पहल की सराहना कर चुके हैं। 555 टेलीमेडिसिन सेवा के बारे में उन्होंने कहा था कि ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य का ख्याल रखने की यह अच्छी मुहिम है। इस सेवा के माध्यम से दूर दराज के गांवों को जोड़ने का प्रयास किया जायेगा। साथ ही इस सेवा को उत्तराखण्ड के सभी जिलो में शुरू किया जाएगा। यह सेवा दूर दराज में रहने वाले ग्रामीणों के ईलाज में कारगर साबित हो रही है। यहाँ सबसे अच्छी बात यह है कि 555 टेलीमेडिसिन सेवा के बारे में जान्ने के लिए कुछ ही दिनों पहले भारत सरकार की टीम टिहरी आयी थी। टीम ने इस सेवा का निरीक्षण किया और रिपोर्ट केंद्र में जमा करायी थी। खबर है कि केंद्र में इस सेवा को देश के हर राज्य में लागू करने पर विचार चल रहा है। आशा है कि जल्द ही जिलाधिकारी सोनिका का यह प्रयास देश के अन्य राज्यों में भी आम-जन को मेडिकल सेवाएँ उपलब्ध कराने के लिए प्रयोग में लाया जाएगा।


Uttarakhand News: DM Sonika is praised by CM for 555 tollfree

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें