देहरादून का बेरहम बाप..बेटी का गला आधा काटा और दारू पीकर सो गया...वो तड़पकर मरी

देहरादून का बेरहम बाप..बेटी का गला आधा काटा और दारू पीकर सो गया...वो तड़पकर मरी

Dehradun father killed his daughter  - उत्तराखंड न्यूज, देहरादून, देहरादून क्राइम ,उत्तराखंड,

सबसे पहले तो सवाल ये है कि आखिर देहरादून किस हैवानियत और वहशियत की चपेट में आ रहा है ? ये वो देहरादून नहीं रहा, जिसे किसी वक्त शांतिप्रिय लोगों का शहर कहा जाता है। कभी इस देहरादून में प्यार और शांति की हवाएं बहती थी लेकिन आज दरिंदगी भरी कहानियों से देहरादून दागदार हो गया। बेटियों के लिए ये शहर कितना महफूज़ है, इस बात का अंदाजा इसी बात से लगा लीजिए कि बाप बेटी का कत्ल कर रहा है, मां बेटी को बेरहमी से मार डालती है और हम सब कुछ देखकर और जानकर भी चैन की बंसी बजा रहे हैं। हाल ही में देहरादून में जो हुआ है, वो एक बाप और बेटी के बीच के रिश्ते को कलंकित कर रहा है। ये लिखते हुए ही हाथ कांप रहे हैं कि एक बाप अपनी बेटी के साथ ऐसी बेरहमी क्या सोचकर कर सकता है।

यह भी पढें - देहरादून में BSF की महिला जवान से दुष्कर्म, रातभर होती रही हैवानियत का शिकार
एमडीडीए कॉलोनी में एक पिता ने अपनी सात साल की मासूम का गला चाकू से रेता, उसे तड़पने दिया और खुद नशे में धुत होकर सो गया। सुबह वो बेटी अपने आखिरी शब्द बोली ‘मुझे अस्पताल ले चलो’। हत्या के आरोपी विक्टर ने अपनी बेटी हेलिया की लाश को 30 घंटे तक घर में ही सड़ने के लिए रखा। जब बदबू फैली तो विक्टर ने इसके बाद लाश को रजाई में लपेटा और एक प्लॉट में फेंक आया। विक्टर की ये दूसरी शादी है, पहली पत्नी शिवानी की बेटी थी हेलिना। हैरानी इस बात की भी है कि शिवानी 11 अप्रैल से लापता थी। वो घर में दूसरी पत्नी माही के साथ रह रहा था। उसी घर में पहली पत्नी की दो बेटियां और एक बेटा भी रह रहा था। और पहली पत्नी की दो बेटियों और एक बेटे के साथ रह रहा था। 14 अप्रैल की रात को विक्चर नशे में धुत होकर घर पहुंचा।

यह भी पढें - पहाड़ में कौन मां इतनी निर्दयी होगी, जो 7 दिन की नवजात बच्ची को इस हाल में छो़ड़ गई
इस बीच हेलिना अपनी मां शिवानी को ढूंढने की जिद करने लगी। गुस्से में विक्टर ने बेटी का गला चाकू से आधा काटा और सो गया। इसके बाद हेलिना पूरी रात फर्श पर पड़ी तड़पती रही। सुबह उसने बड़ी बहन से मदद के लिए पुकारा, लेकिन बाप के कोप से डरी बहन उसकी कोई मदद नहीं कर सकी। बेटी का गला काटने वाला विक्टर अगले पूरे दिन सोया रहा। पत्नी माही ने उसे उठाने की कोशिश की लेकिन वह नहीं उठा। एसएसपी निवेदिता कुकरेती का कहना है कि इस दौरान विक्टर ने एक बार भी हेलिना के बारे में नहीं पूछा। विक्टर ने दूसरी पत्नी माही को विश्वास में लिया और सभी को किसी से भी कुछ कहने पर जान से मारने की धमकी दे डाली। सुबह जब एंजल उठी तो फर्श में तड़प रही हेलिना जिंदा थी। उसने कहा कि मुझे अस्पताल ले चलो, लेकिन डरी-सहमी एंजल उसकी कोई मदद नहीं कर सकी। थोड़ी देर बाद हेलिना की मौत हो गई।


Uttarakhand News: Dehradun father killed his daughter

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें