उत्तराखंड के दुधली गांव का बच्चा, दिल में छेद था, पीएम मोदी की वजह से मिली नई जिंदगी

उत्तराखंड के दुधली गांव का बच्चा, दिल में छेद था, पीएम मोदी की वजह से मिली नई जिंदगी

Pmo saves a boy life of dehradun  - आशुतोष, पीएम मोदी, उत्तराखंड न्यूज,उत्तराखंड,, नरेंद्र मोदी

11 साल के मासूम के दिल में छेद था और अब वो जिंदगी की नई सांसें ले रहा है, अपने दोस्तों के साथ खेल रहा है। गाहे बगाहे उसके मुंह से निकलता है ‘थैंक्यू मोदी अंकल, अब में खेल सकता हूं, चल सकता हूं, दोस्तों के साथ हंसी मज़ाक कर सकता हूं।’ एक परिवार के चिराग को नई सांसें मिली तो खुशी के आंसू अब थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। 11 साल का आशुतोष देहरादून के डोईवाला के दुधली गांव का रहने वाला था। परिवार का हंसता खेलता बच्चा, जिसे देखकर मां-पिता खुश होते थे। एक दिन अचानक इस परिवार पर पहाड़ टूट पड़ा। अचानक आशुतोष की तबीयत बिगड़ी और उस परिवारवाले डॉक्टर के पास ले गए। डॉक्टर्स की रिपोर्ट में पता चला कि आशुतोष के दिल में छेद है और इलाज काफी महंगा है। इलाज का खर्च इतना था कि मजदूर पिता का दिल बैठ गया। जहां परिवार के लिए दो जून की रोटी का जुगाड़़ करना ही मुश्किल था।

यह भी पढें - उत्तराखंड में बनेगा पहला इंटरनेशनल एयरपोर्ट, 2 मिनट में जानिए इसकी हाईटेक खूबियां
परिवार गरीब और उस पर एक लाख रुपये तो दूर की कौड़ी है। डॉक्टर्स ने परिवार को सलाह दी और बच्चे को ऑपरेशन के लिए पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर लिया गया। आशुतोष के मजदूर पिता दिन-रात ये सोचकर परेशान थे कि अब क्या करें। आखिरकार गम के सागर में डूबते इस परिवार को तिनके का सहारा मिल गया। एक समाजसेवी की मदद से प्रधानमंत्री के नाम खत भेजा गया और मदद की गुजारिश की गई। इसके बाद पीएमओ से परिवार को तुरंत ही 50 हजार रुपये की मदद भेजी गई। हालांकि इनकी रकम काफी नहीं थी। इसके बाद सांसद रमेश पोखरियाल के माध्यम से पीएम को पत्र भेजा गया। इसके बाद आगे की कार्रवाई हो सकी। आशुतोष का इलाज शुरू हुआ। डॉक्टर्स ने दिन रात उसको नई जिंदगी देने के लिए मेहनत की। इस मेहनत का नतीजा ये हुआ कि आशुतोष मौत के मुंह से बाहर आ गया।

यह भी पढें - उत्तराखंड की बेटी को नारी शक्ति पुरस्कार, राष्ट्रपति और पीएम मोदी का सलाम
पीजीआई चंडीगढ़ में आशुतोष का सफल इलाज किया गया। प्रधानमंत्री ऑफिस से मदद मिली और आशुतोष अब अपने दोस्तों के साथ खेलने के लिए तैयार है। 11 वर्षीय आशुतोष अपनी नई जिंदगी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करते-करते भावुक हो गया। आशुतोष का कहना है कि इसके लिए वो बार बार देश के मोदी अंकल का शुक्रिया अदा करेगा। आशुतोष के परिवार का कहना है कि इस मदद के लिए वो हमेशा देश के प्रधानमंत्री के शुक्रगुजार रहेंगे। उन्हें उनका बेटा वापस मिल गया। 11 साल का आशुतोष मौत के मुंह से बचकर आज नई जिंदगी जी रहा है। आशुतोष ने अपनी नई जिंदगी के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद किया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वजह से आज आशुतोष अपने परिवार के साथ है, वरना घरवालों ने तो आस छोड़ दी थी।पीएम मोदी को थैंक्यू बोलते हुए आशुतोष भावुक हो उठा।


Uttarakhand News: Pmo saves a boy life of dehradun

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें