शाबाश: दुबई में मसीहा बना उत्तराखंड का सपूत, एक बार फिर एक उत्तराखंडी को बचा लिया

शाबाश: दुबई में मसीहा बना उत्तराखंड का सपूत, एक बार फिर एक उत्तराखंडी को बचा लिया

Roshan raturi save a life of uttarakhandi in dubai - उत्तराखंड न्यूज, रोशन रतूड़ी,उत्तराखंड,

दुनियाभर में करीब 550 लोग ऐसे हैं, जिनके लिए रोशन रतूड़ी भगवान बन गए हैं। दिनभर काम करना, कभी ना थकना और हिम्मत को जवां रखने का जज्बा कोई इस सपूत से सीखे। उत्तराखंड के युवा आज देश-विदेशों में हैं, वो जहां भी हैं, देवभूमि का नाम रोशन कर रहे हैं। इसका जूता-जागता सबूत रोशन रतूड़ी हैं। दुबई में रहने वाले रोशन रतूड़ी मूल रूप से टिहरी जिले के हिंडोलाखाल के रहने वाले हैं। गांव के एक लड़के ने दुबई में मानवता का एक ऐसी मशाल जला दी है, जिसे दुनियाभर के साढ़े पांच सौ से ज्यादा लोग हाथ में थाम चुके हैं। मानवता की ये मशाल कभी भी ना बुझे इसके लिए रोशन रतूड़ी लगातार, बिना थके काम कर रहे हैं। एक बार फिर से एक उत्तराखंडी की जान बचाकर रोशन रतूड़ी ने साबित कर दिया है कि मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं। रोशन रतूड़ी ने फेसबुक पर वीडियो अपलोड कर इस बारे में जानकारी दी है।

यह भी पढें - Video: उत्तराखंड के लाल ने दुनिया को दी भाईचारे की मिसाल, विदेश में बना सुपरहीरो
यह भी पढें - देवभूमि का लाल...दुबई में एक पहाड़ी को बचा लिया, वॉट्सऐप पर सिर्फ एक मैसेज मिला था
रोशन रतूड़ी ने लिखा है कि ‘’आज एक और उतराखंडी भारतीय भाई को तकलीफो से निकालकर उनको उनके परिवार से मिलाने जा रहा हूँ। इनकी मांजी बहुत चिन्ता कर रही थी सभी सदस्य बहुत दुखी थे।’’ आगे रोशन लिखते हैं कि ‘’यहां पर ऐजेंट की वजह से ये भाई फंसे गये थे कम्पनी का मालिक सही नही था। लेकिन जब आशीष जी मेरे पास आये तो उनकी समस्या सुनी और उनको विश्वास दिलाया की आप बहुत जल्दी अपने वतन अपने परिवार के पास होगे, और आज वो दिन आ गया कि भाई आशीष मुसीबतों से निकलकर स्वदेश जा रहे है।’’ रोशन ने आगे लिखा है कि ‘’इंसानियत कभी नही मरनी चाहिए। भाई आशीष जी जब गले मिले तो आंसू आ गये थे। बहुत महीनों से विदेशी धरती में फंसे हुए थे। बहुत भाग दौड़ की काफ़ी उतार चढ़ाव आए बहुत मेहनत की और हिम्मत नहीं हारी’’।

यह भी पढें - Video: उत्तराखंड का सपूत विदेश में बना सुपरमैन, दुनियाभर के 543 लोगों की जान बचाई
यह भी पढें - Video: उत्तराखंड के युवा विदेश में फंसे, दो दिन बाद शादी थी...तभी देवदूत बना पहाड़ी सपूत
रोशन रतूड़ी ने कहा है कि ‘’आख़िरकार आज भाई आशीष जी को उसके परिवार के पास भेज दिया है। आप फेसबुक पर Roshan Raturi RR पेज के जरिए रोशन रतूड़ी से जुड़ सकते हैं। अब आप भी ये वीडियो देखिए। शाबाश रोशन रतूड़ी...उत्तराखंड को आपकी मेहनत और इंसानियत पर गर्व है। इसी तरह से मानवता की सेवा को अपना धर्म मानते रहिएगा।


Uttarakhand News: Roshan raturi save a life of uttarakhandi in dubai

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें