uttarakhand investers summit dehradun 2018 latest news

देवभूमि का अमृत: हिसर (हिसूल) की पूरी दुनिया में डिमांड, इसके बेमिसाल फायदे जानिए

देवभूमि का अमृत: हिसर (हिसूल) की पूरी दुनिया में डिमांड, इसके बेमिसाल फायदे जानिए

Benefits of hisool of uttarakhand - उत्तराखंड न्यूज, हिसर, हिसूल

प्रकृति ने इंसान के स्वास्थ्य के लिए उत्तराखंड को कुछ ऐसे वरदान दिए हैं, जिनके बारे में जानना भी बेहद जरूरी है। आज हम आपको एक ऐसे फल के बारे में बता रहे हैं, जो आपकी बढ़ती उम्र को रोक देता है। जी हां इस फल की बदौलत आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता जबरदस्त तरीके से बढ़ती है। इस फल में इतने पौष्टिक तत्व हैं कि आपके शरीर से हर रोग दूर हो सकता है। आज हम आपको हिसर (हिंसोला, हिसूल) के बारे में बताने जा रहे हैं। उत्तराखंड के पहाड़ों में जंगल, खेल, झाड़िय़ां हर जगह आपको ये फल मिलेगा। हमें यकीन है कि आपके बचपन की यादें इससे जुड़ी हैं। इस फल से हर पहाड़ी का भावनात्मक लगाव भी है। इसका स्वाद मीठा होता है और खास तौर पर बच्चों को ये बेहद पसंद आता है। क्या आप ये बात जानते हैं कि ये फल विदेशों में भी निर्यात किया जाता है। अंग्रेस में इसे रैसबैरी कहते हैं। पहाड़ों में रेड या ब्लैक रैसबेरी बहुतायत होता है। खास बात ये है कि यूरोप और चीन में इसकी जबरदस्त खेती होती है और इसे महंगे दामों में बेचा जाता है।

यह भी पढें - उत्तराखंड का अमृत, जिसके स्वाद के दीवाने हैं बड़े-बड़े दिग्गज, इसकी खूबियां बेमिसाल हैं
यह भी पढें - उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा की डिमांड दुनियाभर में बढ़ी, इसके बेमिसाल फायदे जानिए
पहाड़ में सही मार्गदर्शन ना मिलने की वजह से ये बर्बाद होता जा रहा है। अब आपको इस फल के फायदे बता देते हैं। सबसे पहले खास बात ये है कि इसके सेवन से मोटापा कम होता है। अगर आप वजन बढ़ने की परेशानी से जूझ रहे हैं तो इसका सेवन करें। इसके अलावा इस फल के सेवन से इंसान की प्रति रोधक क्षमता जबरदस्त तरीके से बढ़ती है। इससे आपको कई तरह की बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है। इस फल के सेवन से जवानी बरकरार रहती है और शरीर पर बढ़ती उम्र का असर बेहद कम होता है। इसके अलावा इस फल के सेवन से चेहरे पर झांइयां नहीं पड़ती। हिसर आंखों के लिए भी फायदेमंद है। दिल की बीमारियों से ये फल आपको दूर रखता है। अब आपको बताते हैं कि इस फल में ऐसे कौन से तत्व होते हैं, जो इसे बेहतरीन बनाते हैं। इसकी 100 ग्राम मात्रा में 2.5 फीसदी एनर्जी होती है। 11.94 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है।

यह भी पढें - केदारनाथ का अनमोल खजाना, जिसे पाने के लिए दुनिया बेकरार है...पहाड़ में कुदरत का करिश्मा
यह भी पढें - कंडाली की झपाक और स्वाद...दोनों गजब हैं...वैज्ञानिकों ने इसके फायदे बताए हैं, जान लीजिए
इसके साथ ही इसकी 100 ग्राम मात्रा में 1.20 ग्राम प्रोटीन होता है। इसके अलावा इसमें .65 फीसदी फैट, 6.5 फीसदी डायटेरी फाइबर होता है। फाइबर पेट को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसके अलावा इसकी 100 ग्राम मात्रा में 21 एमजी फोलेटस विटामिन, .598 एमजी नियासिन विटामिन , .055 एमजी पैरीडॉक्सीन विटामिन, .039 रिबोफ्लेविन विटामिन, 26.2 एमजी विटामिन सी, 1.42 एमजी विटामिन ई और 7.8 एमजी विटामिन के होता है। अब बात इलैक्ट्रोलाइट्स भी करते हैं। 100 ग्राम हिसर में 1 एमजी सोडियम, 151 एमजी पोटेशियम, मिनरल्स, 25 एमजी कैल्शियम, 90- एमजी कॉपर, .69 एमजी आयरन, 22 एमजी मैग्नीशियम, .42 एमजी जिंक और 12 एमजी कैरोटीन होता है। इससे ही आप समझ सकते हैं कि किस तरह से ये फल आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और उम्र का असर आप पर होने नहीं देता।


Uttarakhand News: Benefits of hisool of uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें