देहरादून में दौड़ेगी मेट्रीनो, जाम से मिलेगी राहत, ऐसी हैं हाईटेक खूबियां

देहरादून में दौड़ेगी मेट्रीनो, जाम से मिलेगी राहत, ऐसी हैं हाईटेक खूबियां

Metrino to be run in dehradun - उत्तराखंड न्यूज, देहरादून मेट्रीनो ,उत्तराखंड,

देहरादून मेट्रिनो आ रही है, जो जाम से निजात दिलाएगी। आपको याद होगा कि हाल ही में केंद्र सरकार ने दिल्ली में मेट्रिनो के संचालन की बात कही थी। जैसे ही सरकार ने ये बात कही थी, तो इसके लिए चार इंटरनेशनल कंपनियों की तरफ से बिड भी मिल गई थी। अच्छी बात ये है कि दिल्ली के बाद देहरादून में भी ये एयर टैक्सी चलने वाली है। देहरादून को जाम से मुक्त करने के लिए MDDA ने ये सुनहरा ख्वाब बुना है। परियोजना पर प्राधिकरण ने काम शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि MDDA के उपाध्यक्ष डॉक्टर आशीष कुमार श्रीवास्तव ने मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह के सामने इसका प्रजेंटेशन भी दिया है। मुख्य सचिव ने भी इस परियोजना का प्रेजेंटेशन देखकर हामी भर दी है। मेट्रिनो जमीन से कई मीटर ऊपर पाइप के सहारे दौड़ती है। मेट्रिनो की रफ्तार 60 किलोमीटर प्रति घंटे की होती है।

यह भी पढें - देहरादून में महेंद्र सिंह धोनी का नया आशियाना, इस गांव में बनेगा शानदार फॉर्म हाउस !
यह भी पढें - उत्तराखंड का पहाड़ी गांव, जहां आजादी के बाद पहली बार पहुंची बस...लोगों ने आरती उतारी
रफ्तार के लिहाज से, जहां ज्यादा जाम है, वहां इसके परिचालन में आसानी होगी। मेट्रिनो परियोजना की लागत एक किलोमीटर के ट्रैक पर करीब 50 करोड़ रुपये आती है। इस लिहाज से देखें तो मेट्रिनो खर्चे के मामले में मेट्रो और मोनो रेल के मुकाबले कहीं ज्यादा किफायती है।इस एयर टैक्सी का संचालन जमीन से 6.5 मीटर की ऊंचाई पर किया जाएगा। अलग अलग जगहों के हिसाब से इसका संचालन होता है। मेट्रिनो एक डिब्बा टैक्सी की तरह होता है। ये रोप-वे की तरह नजर आती है। फर्क ये है कि रोप-वे में एक ट्रॉली रुक जाए तो बाकी ट्रॉली भी काम करना बंद कर देती हैं, लेकिन मेट्रिनो में ऐसा नहीं होगा। खास बात ये भी है कि मेट्रिनो एयर कंडीशंड सुविधा से भी लैस होगी। एक और खास बात ये है कि मेट्रिनो चालकरहति होती है। इसके बॉड यानी केबिन में अदंर ही अलग अलग स्टेशन के नाम लिखे होते हैं।

यह भी पढें - स्मार्ट सिटी देहरादून, अब और भी ज्यादा स्मार्ट...विक्रम OUT, इलेक्ट्रिक ऑटो IN !
यह भी पढें - खुशखबरी : देहरादून इंटरनेशनल स्टेडियम में होगी पहली वनडे सीरीज...टीमें तैयार हैं
यात्री को बस उस स्टेशन के पास वाला बटन दबाना होगा और अपने गंतव्य पर पहुंच सकेंगे। उतरने और चढऩे के दौरान ये मेट्रिनो लिफ्ट की तरह नीचे आएगी और फिर ऊपर चली जाएगी। ये किसी हाईटेक अवतार से कम नहीं है। मेट्रिनो की सबसे खास बात ये कि भीड़ भाड़ वाले इलाकों में ये बेहद ही आसानी से रफ्तार भरेगी। मेट्रो और मोनोरेल की तरह इस परियोजना में किसी बड़े बजट की भी जरूरत नहीं होती। खबर है कि मेट्रिनो के अधिकारी भी जल्द दिल्ली और दून आने वाले हैं। वो ये तय करेंगे कि शहर के किन किन इलाकों में इसका संचालन संभव हो सकेगा। दिल्ली में धौलाकुआं से हरियाणा क्षेत्र के मानेसर तक मेट्रिनो का संचालन करने की योजना है। आपको बता दें कि ये हाईटेक सेवा अभी तक 5 मुल्कों में है। अमेरिका, ब्रिटेन, साउथ कोरिया, अबू धाबी और नीदरलैंड्स जैसे मुल्कों में मेट्रिनो संचालित की जा रही है।


Uttarakhand News: Metrino to be run in dehradun

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें