उत्तराखंड के लिए आज की शानदार खबर, 6 हजार शिक्षकों की भर्ती का रास्ता साफ !

उत्तराखंड के लिए आज की शानदार खबर, 6 हजार शिक्षकों की भर्ती का रास्ता साफ !

Six thousand teachers to be appointed in uttarakhand - उत्तराखंड न्यूज, शिक्षक भर्ती ,उत्तराखंड,

उत्तराखंड के लिए आज की शानदार खबर है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो, जल्द ही राज्य में शिक्षकों के खाली पड़े पदों को भरा जाएगा। जी हां विश्वस्त सूत्रों और कुछ वेबसाइट्स के हवाले से खबर मिली है कि जल्द ही राज्य में 6 हजार भर्तियों का रास्ता साफ होने जा रहा है। इस अल्पकालिक शिक्षक सेवा भर्ती नियमावली की एक खास वजह है। सरकार नई भर्ती में लगी अड़चन को दूर करना चाहती है। ये भर्तियां प्रवक्ता और एलटी के पदों पर होनी है। बताया जा रहा है कि न्याय विभाग की तरफ से सरकार को हरी झंडी मिल चुकी है। इसलिए कहा जा रहा है कि अल्पकालिक शिक्षक भर्ती नियमावली से पूर्व में अस्तित्व में रही प्रवक्ता और LT शिक्षक सेवा नियमावली के अनुसार नियुक्तियां होंगी। वेबसाइट हिंदुस्तान का कहना है कि दो अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है।

यह भी पढें - गैरसैंण में पेश होगा त्रिवेंद्र सरकार का बजट, मार्च में उत्तराखंड को मिलेंगे बड़े तोहफे !
यह भी पढें - अवनी चतुर्वेदी ने रचा इतिहास, वायुसेना की पहली महिला ऑफिसर, जिसने उड़ाया मिग-21
दरअसल काफी वक्त से उत्तराखंड में शिक्षकों की कमी चल रही है। इस वजह से शिक्षा विभाग ने न्याय विभाग से नई भर्तियों के संबंध में राय मांगी थी। आपको याद होगा कि 29 दिंसबर 2016 को अल्पकालिक शिक्षक भर्ती नियमावली लागू की गई थी। इस नियमावली की वजह से सरकार ने LT और लेक्चरार की मौजूदा नियमावलियों को भी संशोधित किया था। इसके बाद इस नियामवली को लेकर हंमामा भी हुआ था। दरअसल नियमावली में सिर्फ गेस्ट टीचर्स को ही भर्ती में मौका दिया जा रहा था। इसके खिलाफ कुछ बेरोजगारों ने हाईकोर्ट में इसे नियमावली को चुनौती दी थी। इसके बाद हाईकोर्ट ने इस पर सुनवाई करते हुए इसे समानता के अधिकार का हनन बताया था। आखिरकार कोर्ट में इस नियमावली पर स्टे लगाया गया।

यह भी पढें - स्मार्ट सिटी देहरादून, अब और भी ज्यादा स्मार्ट...विक्रम OUT, इलेक्ट्रिक ऑटो IN !
यह भी पढें - शाहिद कपूर ने देखा उत्तराखंड में मौजूद परीलोक...हैरान होकर बोले ‘मैं दुनिया को बताऊंगा’
इस वजह से संशोधित LT और प्रवक्ता नियमावली भी अधर में लटक गई हैं। अब शिक्षा विभाग के पास ये भी संकट है कि 31 मार्च को 4200 से ज्यादा गेस्ट टीचर्स की सेवाएं खत्म हो रही हैं। वहीं मार्च में बड़ी संख्या में शिक्षक भी रिटायर हो जाएंगे। सरकार ये भी जानती है कि अगर नई भर्तियां नहीं हुई तो बड़ी संख्या में शिक्षकों का संकट पैदा हो जाएगा। अब न्याय विभाग की राय मिली है, तो नई भर्ती को लेकर एक रास्ता खुला है। उच्च स्तर से इस मामले में आखिरी अनुमोदन लिया जाना है। 31 मार्च के बाद स्कूलों में शिक्षकों की कमी होगी, ये तय है। इस 31 मार्च को 4346 अतिथि शिक्षकों की सेवा समाप्त हो रही हैं। इसके साथ ही करीब 800 शिक्षक रिटायर होने जा रहे हैं।


Uttarakhand News: Six thousand teachers to be appointed in uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें