स्मार्ट सिटी देहरादून, अब और भी ज्यादा स्मार्ट...विक्रम OUT, इलेक्ट्रिक ऑटो IN !

स्मार्ट सिटी देहरादून, अब और भी ज्यादा स्मार्ट...विक्रम OUT, इलेक्ट्रिक ऑटो IN !

Transport system will be changed in dehradun  - उत्तराखंड न्यूज, देहरादून ,उत्तराखंड,

जल्द ही आपको अब देहरादून बदला बदला सा नजर आएगा। जी हां कुछ वक्त पहले से लगातार खबरें आ रही हैं कि देहरादून में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। इस वजह से लोगों को कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। इस प्रदूषण पर रोकथाम लगाने के लिए एक शानदार कोशिश की जा रही है। जल्द ही आपको देहरादून में ई रिक्शा, इलेक्ट्रिक सिटी बसें और इलेक्ट्रिक ऑटो नजर आएंगे। बताया जा रहा है कि सबसे पहले ई-वाहनों को वरीयता दी जाएगी। खबर है कि अब उन्हीं ऑटो रिक्शा को परमिट मिलेगी, जो इलेक्ट्रिक होंगे। पहले फेज़ में देहरादून में 100 इलेक्ट्रिक बसें उतारी जाएंगी। इसके अलावा विक्रमों की संख्या को सीमित कर दिया जाएगा। काफी वक्त से देहरादून में डीजल और पेट्रोल से चलने वाले विक्रम और ऑटो चल रहे हैं।

यह भी पढें - उत्तराखंड की सियासत का सुपरओवर, चैंपियन की यॉर्कर पर सीएम त्रिवेंद्र का सिक्सर !
यह भी पढें - बागेश्वर का नेवी कमांडो, कभी आतंकियों का काल बना, अब पहाड़ में किया ऐतिहासिक काम
इनसे लगातार प्रदूषण गंभीर स्तर पर पहुंच रहा है। इस वजह से फैसला लिया जा रहा है कि इलेकेट्रिक बसें और इलेक्ट्रिक ऑटों को राजधानी में उतारा जाएगा। दरअसल गढ़वाल आयुक्त दिलीप जावलकर की अध्यक्षता में मंगलवार को एक बैठक हुई। क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण की इस बैठक में देहरादून के अलावा ऋषिकेश, रुड़की, हरिद्वार के 57 प्वॉइंट्स पर चर्चा की गई। कुछ बातों पर सहमति बनी जबकि कुछ बातों पर परेशानी दर्ज की गई हैं। दिलीप जावलकर का कहना है कि सरकार देहरादून में ईलेक्ट्रिक वाहनों के संचालन पर जोर दे रही है। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत ई-बसें खरीदी जानी हैं। उन्होंने बताया कि अभी 100 इलेक्ट्रिक बसें चलाने पर सहमति बनी है।

यह भी पढें - उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत अब इस सीट से लड़ेंगे चुनाव ! खुद बताई अपने दिल की बात
यह भी पढें - Video: ‘हम उत्तराखंडी देश दिखा देंगे कि हम किस काबिल हैं’, पहाड़ी शेर का खुला ऐलान
दिलीप जावलकर ने कहा कि इसके साथ ही सरकार द्वारा ई-वाहनों के लिए योजना तैयार की जा रही है। इससे देहरादून में प्रदूषण कम हो सकेगा। खास बात ये भी है कि अब देहरादून में बिना कलर कोड के कोई पब्लिक ट्रांसपोर्ट वाहन नहीं चल पाएंगे। हालांकि अब बताया तो ये भी जा रहा है कि कुछ ऑटो यूनियन इसके विरोध में खड़े हो रहे हैं। खैर पर्यावरण को बचाए रखने के लिए सरकार की इस कोशिश की तारीफ कुछ एक्सपर्ट्स भी कर रहे हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि हाल ही में देहरादून में आईएसबीटी के पास स्मॉग जबरदस्त मात्रा में पाया गया है। इसके साथ ही देहरादून के कई इलाकों में प्रदूषण का स्तर खतरे के निशान पर पहुंच गया है।


Uttarakhand News: Transport system will be changed in dehradun

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें